Higher Education Department : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आनलाइन काउंसलिंग की पंजीयन प्रक्रिया में भारी गड़बड़ी सामने आई है। अधिकांश विद्यार्थियों की जाति और जन्मतिथि गलत है। उच्च शिक्षा विभाग को इसे लेकर विद्यार्थियों की शिकायत मिल रही है, जिसमें यह गलती कियोस्क सेंटर से होने का पता चला है। अधिकांश विद्यार्थियों ने सेंटर से प्रवेश के लिए आवेदन किए हैं। अब विभाग ने कालेजों को इन गलतियों को सुधारने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद ही विद्यार्थियों की जानकारी सीट आवंटन की प्रक्रिया के लिए आगे बढ़ाई जाएगी।

बीए, बीकाम और बीएससी में प्रवेश करने वाले अधिकांश विद्यार्थियों के आवेदनों में गलतियां हुई है, जिसमें जन्मतिथि में वर्ष गलत दर्शाया है। साथ ही कियोस्क सेंटर ने जाति भी अन्य लिख दी है। इसके चलते विद्यार्थियों को पसंदीदा पाठ्यक्रम व कालेज आवंटन में दिक्कतें आ सकती हैं। वहीं इन्हें छात्रवृत्ति योजनाओं का लाभ भी नहीं मिलेगा। विभाग ने हेल्प सेंटर व कालेजों को गलतियां सुधार कर एमपीटास पोर्टल पर विद्यार्थियों का डाटा भेजने पर जोर दिया है। आदेश विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी डा. अजय अग्रवाल ने जारी किया है। अधिकारियों के मुताबिक स्नातक में पंजीयन 30 मई तक किए जाएंगे। जबकि दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया 31 मई तक चलेगी। विद्यार्थियों की शैक्षणिक योग्यता के आधार पर 7 जून तक मेरिट बनेगी। फिर कालेज अलाट होंगे। जबकि स्नातकोत्तर में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थी 31 मई तक आवेदन कर सकते हैं।

बीएड-एमएड में सीटें आवंटन - एनसीटीई से मान्यता प्राप्त पाठ्यक्रम में पंजीयन करवा चुके विद्यार्थियों को 30 मई सोमवार को सीटें आवंटित होंगी। इसमें बीएड-एमएड, बीपीएड-एमपीएड, बीएससी बीएड सहित अन्य कोर्स शामिल हैं। कालेज अलाट होने के बाद तीन दिन के भीतर विद्यार्थियों को फीस जमा करनी है। साथ ही 30 मई से 3 जून के बीच विद्यार्थियों को प्रवेश निरस्त करने का भी विकल्प रहेगा। इसके चलते विद्यार्थी दूसरे चरण में आवंटन की प्रक्रिया में भाग ले सकेंगे।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close