Higher Education Department : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सरकारी और निजी कालेजों में प्रवेश को लेकर शुक्रवार को कालेज लेवल काउंसलिंग (सीएलसी) का चौथा चरण खत्म हो गया। स्नातक-स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में एक लाख विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया है। निजी कालेजों में 30 प्रतिशत सीटें रिक्त हैं। इसके चलते उच्च शिक्षा विभाग ने शुक्रवार शाम छह बजे सीएलसी के पांचवें चरण की घोषणा कर दी। पोर्टल पर काउंसलिंग का शेड्यूल जारी कर दिया है। शनिवार से पंजीयन के लिए लिंक खोली गई है। विद्यार्थियों को एक बार फिर अपने पसंदीदा कालेज व पाठ्यक्रम में दाखिले पाने का मौका मिल गया है।

12वीं सीबीएसई का रिजल्ट नहीं आने और सीयूईटी के चलते आनलाइन काउंसलिंग व तीन चरणों की सीएलसी के बाद भी यूजी-पीजी की 50 फीसद सीटें भर नहीं पाई। इसे देखते हुए विभाग ने 20 जुलाई से 5 अगस्त तक चौथा चरण रखा। प्रदेशभर में एक लाख सीटों पर विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया है। बीए, बीकाम, बीएससी सहित अन्य यूजी कोर्स में 81175 और एमए, एमकाम सहित पीजी कोर्स में 28825 सीटें भरी हैं। होलकर साइंस, ओल्ड जीडीसी, न्यू जीडीसी, निर्भय सिंह पटेल न्यू साइंस कालेज, गवर्नमेंट ला कालेज से संचालित अधिकांश पाठ्यक्रम में प्रवेश हो चुके हैं।

निजी कालेजों में अभी भी खाली हैं सीटें - विद्यार्थियों के प्रवेश को लेकर निजी कालेजों की हालात अभी खराब है। इन कालेजों में इंदौर क्रिश्चियन कालेज, गुजराती कालेज, आइकेडीसी, विशिष्ट, अरिहंत, जैन दिवाकर, इस्बा, एलेक्जिया, इंदौर महाविद्यालय, अक्षय एकेडमी, सेंटपाल सहित कई कालेजों में सीटें अभी भी रिक्त हैं। अब उच्च शिक्षा विभाग ने सीएलसी का पांचवां चरण रखा है। 6 से 8 अगस्त तक नए पंजीयन हो सकेंगे। इस दौरान विद्यार्थी दस्तावेज सत्यापन करवा सकते हैं। 10 अगस्त तक प्राप्त आवेदनों के आधार पर कालेजों में मेरिट लिस्ट जारी होगी। सीट आवंटन की प्रक्रिया 10 अगस्त को रखी है। विद्यार्थियों को 13 अगस्त तक फीस जमा करनी है।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close