इंदौर। हनीट्रैप मामले में गिरफ्तार लड़की के साथ पूर्व विधायक के प्रतिनिधि और कुछ रसूखदारों की भी जानकारी पुलिस को मिली है। अब इन्हें भी मुलजिम बनाया जाएगा। पुलिस ने लड़की का मोबाइल भी जब्त कर डेटा रिकवर करके फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है। चंदन नगर थाना टीआई विनोद दीक्षित के मुताबिक मामले में पांच लोगों के बयान लिए हैं। इसमें जीतेंद्र के साथ भी धोखाधड़ी हुई है, लेकिन पुलिस ने उसे भी गवाह बनाया है। पुलिस को देवास के राकेश व ओम सांतला की भी जानकारी मिली है। इन दोनों को भी मुलजिम बनाया जाएगा। इनमें कुछ लोग ऐसे भी हैं जो पहले पीड़ित रहे हैं, लेकिन बाद में लड़की के साथ गिरोह में शामिल हो गए। पुलिस ने रविवार को बीए सेकंड ईयर की छात्रा गायत्री सिसोदिया व एक अन्य को गिरफ्तार किया था। इसमें आरोपितों के मोबाइल जब्त किए थे। इनमें आपत्तिजनकर वीडियो बरामद हुए थे। इससे पता चला था कि हनीट्रैप-2 गिरोह सौ से ज्यादा लोगों को ब्लैकमेल कर अब तक लाखों की वसूली कर चुका है। इसमें कॉलेज में पढ़ने वाली कई लड़कियों के शामिल होने की बात सामने आ रही है।

राजेश ने की थी पुलिस को शिकायत

रविवार को देवास के पुंजापुरा इलाके में वाहनों का शोरूम संचालित करने वाले राजेश की शिकायत पर पुलिस ने एक युवती व दुर्गेश पर ब्लैकमेलिंग का केस दर्ज किया था। राजेश आरोपित दुर्गेश का परिचित है। दुर्गेश ने राजेश के शोरूम पर अकाउंटेंट की नौकरी के नाम पर युवती का इंटरव्यू लेने के लिए राजेश को बुलाया। राजेश का आरोप है कि कमरे में आते ही युवती आपत्तिजनक हरकतें करने लगी थी। गिरफ्तारी के बाद आरोपितों से पूछताछ में पता चला कि ये लोग आसपास के शहरों के व्यापारियों को टारगेट बनाकर उन्हे ब्लैकमेल करते और उनसे रुपए ऐंठते थे।

Posted By: Nai Dunia News Network