Indore Corona News, इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आप मरीजों की मनमाने तरीके से शिफ्टिंग नहीं कर सकते। कोई मरीज अगर इलाज के पैसे नहीं दे सकता या इलाज का खर्च वहन नहीं कर पा रहा है तो आप उससे मुक्ति पाने के लिए उसे शिफ्टिंग नहीं कर सकते। मैं, आपके खिलाफ एफआइआर करवा दूंगा। आप मुझे बताइए, उस आदमी का इलाज हम सरकारी अस्पताल में करेंगे। हम आपका हर चीज में सपोर्ट कर रहे हैं, लेकिन किसी की जान को खतरा आया तो सहन नहीं करेंगे।

यह बात कलेक्टर मनीष सिंह ने बुधवार को रेसीडेंसी कोठी में आइएमए और निजी अस्पतालों के संचालकों के साथ हुई बैठक में कही। दरअसल, आइसीएमआर से मिले निर्देश के अनुसार इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने कोविड मरीजों के डिस्चार्ज को लेकर पॉलिसी तय की है। इसके तहत ऐसे मरीज जिन्हें तीन दिनों से बुखार नहीं आ रहा है, ऑक्सीजन सेचुरेशन सामान्य हो उन्हें बिना निगेटिव रिपोर्ट के भी डिस्चार्ज किया जाना है, लेकिन शिकायत मिल रही है कि निजी अस्पतालों में मरीजों की आर्थिक हालत देखकर डिस्चार्ज किया जा रहा है।

ऐसे मरीज जिनकी आर्थिक स्थिति अच्छी है उन्हें जल्दी डिस्चार्ज नहीं किया जाता है, जबकि दूसरी ओर ऐसे मरीज जिनकी आर्थिक स्थिति खराब है, उन्हें बीमार होने के बाद भी डिस्चार्ज कर दिया जाता है। गंभीर हालत में डिस्चार्ज करने पर दो मरीजों की मौत भी हो गई है। इस बात पर आइएमए और कलेक्टर ने नाराजगी जाहिर की है।

कलेक्टर सिंह ने कहा कि मरीजों की शिफ्टिंग को लेकर भी प्रोटोकॉल फॉलो नहीं किया जा रहा है। बैठक में निर्देश दिए गए कि जब भी कोविड मरीजों को शिफ्ट करना हो तो सम्बंधित अस्पताल को पहले से सूचित करना होगा, शिफ्ट करते समय भी पुरे प्रोटोकॉल फॉलो करने होंगे।

बढ़ाए जाएंगे बेड

कलेक्टर सिंह ने बैठक में बताया कि कुछ निजी अस्पतालों से चर्चा हुई है। वे कोविड के लिए बेड बढ़ाने के लिए तैयार है, जबकि कुछ अस्पताल होटलों को भी कोविड केयर सेंटर बनाने के लिए तैयार है। इस तरह से अस्पतालों की 300 और होटलों की 400 बेड मिलाकर करीब 700 बेड हो जाएंगे, जिससे शहर में कोरोना मरीजों को राहत मिलेगी।

जो सहयोग नहीं कर रहे उन्हें कोविड केयर सेंटर बनाओं

समीक्षा के दौरान यह बात सामने आई कि गीताभवन, गुर्जर, अरिहंत अस्पताल प्रशासन को सहयोग नहीं कर रहे है। कलेक्टर ने तत्काल निर्देश दिए है कि इन अस्पतालों को पूरी तरह से कोविड अस्पताल में परिवर्तित कर दिया जाए। इस संबध में जल्द ही आदेश जारी किए जाएंगे।

Posted By: sameer.deshpande@naidunia.com

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस