इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Hello Doctor Indore । बारिश के मौसम में मच्छरों के कारण मलेरिया व डेंगू जैसी बीमारियों में तेजी से इजाफा देखने को मिलता है। एक माह पहले तक तो शहर के आसपास के इलाकों से डेंगू के मरीज इंदौर आ रहे थे लेकिन अब इंदौर में भी कई मरीज डेंगू के शिकार हो रहे है। कई मरीज तो ज्यादा गंभीर होने पर अस्पताल में भर्ती भी रहे हैं। ये बातें बुधवार को एमडी मेडिसीन डा. विक्रम बलवानी ने नईदुनिया के 'हेलो डाक्टर' कार्यक्रम में पाठकों के पूछे गए सवालों के जवाब में कही।

उन्होंने बताया कि सामान्य बुखार व डेंगू में अंतर समझना जरुरी है। यदि आपको तीन से चार दिन से अधिक बुखार हो, कमजोरी बढ़े, उल्टी, घबराहट, चक्कर और शरीर पर लाल चकते दिखाई दें तो ऐसे लक्षणों को नजरअंदाज न करे। ये डेंगू के गंभीर लक्षण हो सकते है। ऐसी स्थिति में चिकित्सक का परामर्श ले। डेंगू के मरीजों को पानी की कमी न होने दें और उसे ओआरएस का घोल पिलाए। यदि किसी मरीज की खून की जांच में यदि प्लेटलेट्स 50 हजार से कम हो तो उसकी स्थिति गंभीर हो सकती है, ऐसे में उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती करवाए। कई बार डेंगू वायरस के संक्रमण के कारण बीपी कम होने, किडनी, फेफड़ों में पानी भरने व रक्त की नसों की लीक करने, लीवर में पीलिया होने जैसी गंभीर बीमारी भी हो सकती है।

डेंगू व मलेरिया से बचाव के लिए ये करे प्रयास

- सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करे।

- दरवाजों व खिड़कियों पर जालियां लगाए ताकि मच्छर घर में न आए।

- घर से बाहर जाते वक्त पूरे ढंके हुए कपड़े पहने।

- मच्छरों से घर में बचाव के लिए रेपलेट, मेट का उपयोग करे।

- घर की छतों और आसपास के इलाकों पर जल जमाव न होने दें।

- घर में कूलर, गमलों व अन्य बर्तनों में पानी जमा न होने दे।

- जहां भी पानी जमा हो रहा हो वहां जले हुए तेल व लार्वानाशक दवा का छिड़काव करे।

डा. विक्रम बलवानी से पूछे गए सवाल व उनके जवाब-

सवाल: अभी डेंगू का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। छह माह पहले पोते को हुआ था। घर के दरवाजों व खिड़कियों में जाली लगी है। ऐसे में मच्छरों से कैसे बचे ? - सुभाष केपी श्रीवास्तव, गुलाबबाग कालोनी इंदौर

जवाब: घरों की छत व और आसपास जलजमाव न होने दे। बच्चों को मच्छर से बचाव के लिए बाजार में उपलब्ध जैल लगाए। मच्छरदानी का प्रयोग करने व हाथ व पैर पूरे ढंके हुए वस्त्र पहने।

सवाल: मुझे दिन से हाथ-पैर व बदनदर्द हो रहा है। पसीना व ठंड लगकर बुखार आ रहा है ? - राजेन्द्र जैन, सुखलिया इंदौर

जवाब: आप शरीर में पानी की कमी न होने दे। चिकित्सक से मिलकर परामर्श ले और रक्त की जांच करवाए।

सवाल: डेंगू बुखार के लक्षण क्या है। यह सामान्य वायरल बुखार से कैसे अलग है ? - कन्हैयालाल प्रजापत व असलम दुलावत, उज्जैन

जवाब: डेंगू में तेज बुखार, सिर दर्द, आंखों में दर्द, बदन व कमर दर्द और कमजोरी होने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। मौसमी बुखार में दर्द ज्यादा नहीं होता है।

सवाल: मेरी मम्मी को दो दिन 102, 103 डिग्री बुखार हो रहा है। उनकी जांच रिपोर्ट भी पाजिटिव आई है। ऐसे में क्या उपचार करें ? - श्रेया श्रीमाल, अनूप नगर इंदौर

जवाब: उन्हें पानी की कमी न होने दें, ओआरएस का घोल पिलाए। चिकित्सक से मिलकर परामर्श लें।

सवाल: कोई भी व्यक्ति डेंगू से अपना बचाव कैसे कर सकता है ? -हुकुमचंद कटारिया, सनावद खरगोन

जवाब: मच्छरों से बचाव करें, बुखार आता है तो चिकित्सक की सलाह ले और इस दौरान शरीर में पानी की कमी न होने दें।

सवाल: डेंगू का बुखार कितने दिनों तक रहता है और इस दौरान मरीज को किस प्रकार का भोजन दे ? -विनोद मूड़त, उज्जैन

जवाब: इसका बुखार एक सप्ताह तक रहता है। इस दौरान मरीज को ओआरएस का घोल पिलाए। उसे नारियल का पानी, खिचड़ी, दलिया, दाल, फल दे सकते हैं।

सवाल: मेरा ब्रेन ट्यूमर संबंधित आपरेशन भी हो चुका है। मुझे कुछ दिनों से सर्दी व खांसी हो रही है। यह वायरल बुखार या डेंगू तो नहीं है ? - राहुल अग्रवाल, भवानीपुर कालोनी इंदौर

जवाब: यह वायरल बुखार के कारण हो सकता है, चिकित्सक से मिलकर परामर्श ले।

सवाल: मेरे छह साल के पोते को दो से तीन दिन से बुखार है। उसे पेट में दर्द की शिकायत है और व भोजन भी नहीं कर रहा है? - लखनलाल नागर, राजेन्द्र नगर इंदौर

जवाब: बच्चे को चिकित्सक को दिखाकर उपचार दिलवाए। वायरल बुखार या अन्य किसी कारण भी ऐसा हो सकता है। रक्त की जांच होने से कारण स्पष्ट हो सकेगा।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local