इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। गांव में चल रहे कुटीर और लघु उद्योगों के लिए मददगार तकनीकों की खोज के लिए आइआइटी इंदौर या ऐसे ही शीर्ष इंजीनियरिंग संस्थान की मदद ली जा सकती है। प्रदेश के सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्योग मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा ने उद्योगपतियों के इस सुझाव पर सहमति दी है। सोमवार को आयोजित ग्लोबल फोरम फॉर इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट (जीएफआइडी) की साधारण सभा में प्रदेशभर के उद्योगपतियों से मंत्री ने सीधी बात की और इस बारे में कदम उठाने का आग्रह किया।

कोरोना के कारण जीएफआइडी ने अपनी दूसरी साधारण सभा को ऑनलाइन आयोजित किया। जीएफआइडी के अध्यक्ष दीपक भंडारी ने कहा कि आइआइटी दिल्ली एक संस्थान एफआइआइटी संचालित करती है। यह संस्थान कुटीर और लघु उद्योगों को परेशानी से निजात दिलाने और काम आसान बनाने के लिए तकनीक विकसित करता है। बहुत ही न्यूनतम खर्च पर आइआइटी दिल्ली का संस्थान ऐसी तकनीक विकसित कर देता है। प्रदेश के उद्योगों के लिए भी ऐसा होना चाहिए, जबकि आइआइटी इंदौर में ही स्थित है। मंत्री ने कहा कि इंदौर में आइआइटी व आइआइएम से चर्चा कर सरकार उद्योगों की मदद के लिए सहयोगी बनने के प्रस्ताव देगी। इससे छोटे उद्योग तेजी से आगे बढ़ सकेंगे।

कागजी प्रक्रिया के नाम पर परेशान करने की शिकायत

साधारण सभा में उद्योगपतियों ने कहा कि औद्योगिक क्षेत्रों में अब भी सड़क, पानी और बिजली जैसी मूलभूत समस्याएं बरकरार हैं। उन्होंने इंदौर में उद्योगों के लिए एक एक्जीबिशन सेंटर स्थापित करने की मांग रखी। उन्होंने मंत्री से शिकायत की कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी कागजी प्रक्रिया के नाम पर परेशान करते हैं। विजय गोयल ने इलेक्ट्रॉनिक कॉम्प्लेक्स में बंद पड़ी औद्योगिक लैब फिर शुरू कराने की मांग रखी। मंत्री ने आश्वासन दिया कि सरकार मप्र की नई औद्योगिक नीति तैयार कर रही है। इसमें तमाम बातों का समावेश किया जा रहा है। मंत्री ने कहा कि एक सप्ताह बाद उद्योगपतियों के साथ वे एक बैठक और करेंगे। इसमें नई और पुरानी योजनाओं की समीक्षा करते हुए सुधार व आवश्यक कदम उठाने के निर्णय लिए जाएंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020