इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Illegal liquor Indore। अवैध शराब के कुछ कारोबारी आसपास के जिलों से भी शराब लाकर शहर के अलग-अलग हिस्सों में खपा रहे हैं। शहर के न्यू रानी बाग के पास 13 लाख रुपये से अधिक की शराब पकड़ाने के बाद यह आशंका और गहरा गई है। यह शराब खंडवा और खरगोन जिले से अवैध तरीके से इंदौर लाई जा रही थी। रविवार-सोमवार की दरमियानी रात करीब तीन बजे आबकारी विभाग के दल ने एक मिनी ट्रक को रोककर यह शराब पकड़ी, लेकिन गाड़ी छोड़कर वाहन चालक फरार हो गया।

हाल ही में दो शराब ठेकेदारों अर्जुन ठाकुर और हेमू ठाकुर के बीच हुए विवाद में भी अवैध शराब का कारोबार ही सामने आया है। शराब कारोबार में वर्चस्व को लेकर हेमू गुट ने अर्जुन पर गोली चला दी थी। इस विवाद ने शराब के कारोबार में बढ़ती अवैध गतिविधियों को एक बार फिर हवा दे दी है। इंदौर में देशी और विदेशी शराब की कुल 175 दुकानें हैं। प्रदेश में शराब की सर्वाधिक खपत इंदौर में होती है और आबकारी विभाग को सर्वाधिक राजस्व भी यहीं से मिलता है।

इंदौर से सटे जिलों धार, खरगोन, खंडवा और देवास से भी इंदौर में चोरी-छिपे शराब पहुंचाई जाने की जानकारियां सामने आ रही हैं। अवैध शराब के धंधे में लिप्त इंदौर के ही कुछ कारोबारी सीमावर्ती जिलों के ठेकेदारों से मिलीभगत इंदौर में शराब की आपूर्ति कर रहे हैं। आबकारी विभाग का अमला छोटी-मोटी कार्रवाइयां तो करता है, लेकिन इस नेटवर्क को पूरी तरह ध्वस्त करने में अब तक कोई बड़ी सफलता नहीं मिल पाई है।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local