Ganeshotsav 2022 इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर में होळकर कालीन गणेश उत्सव की परंपरा अनुसार शाही गणेश प्रतिमा का विसर्जन गणेश चतुर्थी के पांचवे दिन रविवार को छत्रीबाग स्थित ऐतिहासिक हरिराव होळकर की छत्री स्थित बावड़ी में किया गया। इस बार भी स्मार्ट सिटी के कार्यों के चलते शहर और आसपास के किसी भी नदी, कुंए और बावड़ी में प्रतिमा विसर्जन की मनाही है, ताकि उनको संरक्षित किया जा सके। इसलिए बावड़ी में पानी में विसर्जन के स्थान पर वंहा रखे एक बड़े तपेले में माटी के गणेश प्रतिमा का विसर्जन किया गया।

भजनों के जरिए हुई गणेश आराधना

शहरभर में गणेशोत्सव का उल्सास छाया हुआ है। इस कड़ी में सिद्धि विनायक गणेशोत्सव समिति द्वारा चांदमारी मैदान स्कीम नंबर 71 में भजन संध्या का आयोजन किया गया। इस अवसर पर भगवान गणेश के पंडाल को फूलों से सजाया और भजन गायक द्वारका मंत्री द्वारा भजनों की प्रस्तुति दी गई। भगवान गणेश की आराधना भजनों के जरिए की गई। आयोजन समिति के राकेश कुमावत और संयोजक अतुल तिवारी ने बताया कि इस मौके पर महापौर पुष्यमित्र भार्गव का अभिनंदन किया गया। इस मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close