Municipal Election 2022: इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। प्रदेश की व्यवसायिक राजधानी के तौर पर पहचाने जाने वाले इंदौर की स्थानीय राजनीति में भी व्यापारियों का महत्व नजर आ रहा है। नगर निगम चुनाव में व्यापारियों की समस्याएं अब मुद्दा बनती दिख रही है। दोनों प्रमुख दलों ने व्यापारियों को लुभाने की कोशिश शुरू कर दी है। इस बीच भाजपा ने तो चुनाव घोषणा पत्र बनाने के लिए व्यापारियों को ही न्यौता दे दिया है। मध्य क्षेत्र के व्यापारी राजनीति के केंद्र में है।

शहर के राजबाड़ा और मध्य क्षेत्र के व्यापारी स्मार्ट सिटी योजना की तोड़फोड़ से परेशान है। बीते दिनों स्मार्ट सिटी क्षेत्र में भवन निर्माण की अनुज्ञा के तगड़े शुल्क का विरोध भी हो चुका है। इस बीच राजबाड़ा और गोपाल मंदिर क्षेत्र के व्यापारियों का अतिक्रमण के खिलाफ आंदोलन भी बदस्तूर जारी है। सप्ताहभर पहले पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ इंदौर पहुंचे थे। नाथ ने शहर के कारोबारियों के लिए खास बैठक आयोजित की। तमाम कारोबारियों से चाय पर चर्चा की। इसके साथ ही तमाम राहत देने की घोषणा भी कर दी। कमल नाथ के सामने व्यापारियों ने दोहरे करारोपण से लेकर अतिक्रमण और मंडी की समस्याओं का मुद्दा उठाया था।

इस बीच भाजपा ने भी राजबाड़ा क्षेत्र के व्यापारियों को न्यौता भेज दिया है। महापौर प्रत्याशी पुष्यमित्र भार्गव की ओर से व्यापारियों को बुलावा भेजा गया है। मध्य क्षेत्र के व्यापारियों से पूछा गया है कि वे नगर निगम को लेकर सुझाव और अपनी अपेक्षाएं बताए। भाजपा अपने घोषणा पत्र में उसे शामिल करेगी। गुरुवार शाम को भारी वर्षा के कारण व्यापारियों की बैठक टालना पड़ी। अब शुक्रवार को मध्यक्षेत्र के व्यापारी सत्ताधारी दल के नेताओं के साथ चर्चा करेंगे।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close