इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पिछले साल 9 दिसंबर को शहर में पुलिस आयुक्त प्रणाली व्यवस्था लागू की गई थी, उम्मीद थी कि अब लोगों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। थानों पर उनकी सुनवाई होगी, लेकिन तंत्र अभी भी सुधरा नहीं है। एक कल्याणी तीन महीने से लसूड़िया थाने के चक्कर लगा रही थी, लेकिन उसकी सुनवाई नहीं हुई। बाद में उन्होंने सीएम हेल्पलाइन में शिकायत की और फिर वहां से पुलिस पर दबाव बना तो महिला की सुनवाई हुई और तीन आरोपितों पर प्रकरण दर्ज हुआ।

लसूड़िया थाना पुलिस के अनुसार फरियादी 51 वर्षीय पुष्पा दुबे निवासी एंजल रिजेंसी निरंजनपुर है। शिकायत पर द यूनाइटेड क्रेडिट कोआपरेटिव सोसायटी लिमिटेड के शिवकुमार तिवारी, शिवकांत कटियार, नवीन मल्होत्रा के खिलाफ धारा 406 और 420 में केस दर्ज किया है। मामला जनवरी 2017 का है। आरोप है कि फरियादी व उसके पुत्र का आरोपितों ने सोसायटी में बचत खाता खुलवाकर रुपये जमा करवाए, लेकिन रुपये वापस नहीं किए। पीड़िता के अनुसार उनके पति के संपर्क में आरोपित आए थे। आरोपितों ने बचत खाते के संबंध में जानकारी दी थी। इसके बाद डेली कलेक्शन के रूप में दो सौ रुपये प्रतिदिन खाते में राशि जमा करवाई। बाद में पति की मौत हो गई, लेकिन खाता चलता रहा। इसके बाद आरोपितों ने बच्चे की पढ़ाई के लिए सौ रुपये प्रतिदिन के हिसाब से खोलने का सुझाव दिया। इसे भी फरियादी ने चालू करवा लिया। फरियादी किराना दुकान का संचालन करती है।

रुपये मांगे तो टालते रहे आरोपित - रुपयों की जरूरत पड़ने पर दो साल के बाद महिला ने स्वयं का खाता बंद करने के लिए कहा। इस पर आरोपितों ने 74 हजार और चार हजार रुपये के दो चेक दिए, लेकिन इन्हें बैंक में लगाने से मना किया। आरोपितों ने फरियादी से कहा था कि जब वे कहें, तब ही बैंक में चेक लगाएं। इस तरह आरोपित टालते रहे और समय निकल गया। बाद में चेक बाउंस हो गए। बाद में रुपयों का हिसाब जोड़ने के नाम पर आरोपितों ने फरियादी से पासबुक भी ले ली। आरोपित नवीन से फरियादी ने रुपयों के लिए तकादा किया तो उसने कहा कि वह नौकरी छोड़ चुका है। वहीं शिवकुमार तिवारी जेल में बंद है। परेशान होकर फरियादी महिला आरोपितों पर एफआइआर दर्ज करने लसूड़िया थाने पहुंची, लेकिन तीन महीने से पुलिस महिला को थाने के चक्कर कटवाती रही। सुनवाई नहीं होने पर महिला ने सीएम हेल्पलाइन में शिकायत की, तब वहां से जब पुलिस से जानकारी ली गई तो गुरुवार को महिला की रिपोर्ट दर्ज की गई। पीड़ित महिला का कहना है कि करीब पांच से छह लाख रुपये निकल रहे हैं जो आरोपितों से लेने हैं। पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर दी है।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local