इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि Chatra Navratri 2021। खजराना क्षेत्र में बना काली मंदिर भक्तों की आस्था का केंद्र बना हुआ है। वैसे तो यहां वर्तमान में जो महाकाली की मूर्ति है उसकी स्थापना 1991 में हुई थी लेकिन इस स्थान पर 1976 से गुरुजी श्याम बापू साधना करते आ रहे थे। इस मंदिर में महाकाली की नौ फिट ऊंची मूर्ति है। यह मूर्ति जयपुर से 80 किमी दूर स्थित छितौली से मंगवाई गई थी। काले संगमरमर से बनी इस मूर्ति की स्थापना से पहले साढ़े तीन साल तक गर्भाधान प्रयोग किया गया और फिर 17 फरवरी 1991 में यह मूर्ति स्थापित हुई थी। प्रत्येक नवरात्र में यहां देवी का आकर्षक श्रृंगार किया जाता है।

मान्यता है कि नवरात्र में उगे जवारे देवी का प्रतीक हैं और यदि उनमें से कोई जवारा पूर्णरूपेश श्वेत हो तो वह और भी मंगलकारी होता है। यहां प्रत्येक नवरात्र में देवी श्वेत जवारे के रूप में दर्शन देती है। मंदिर प्रबंधक गुलशन अग्रवाल बताते हैं कि इस नवरात्र में बेशक यहां भक्त नहीं आ रहे लेकिन मां का आकर्षक श्रृंगार प्रतिदिन किया जाता है और हर दिन विशेष हवन भी होता है। वर्तमान में शिवशिक्त महायज्ञ जारी है। दुर्गा सप्तशति के एक अध्याय में महाकाली को महामारी स्वरूपणी भी कहा गया है और इस बार महाकाली के महामारी स्वरूपणी की क्षुधा को शांत करने के लिए संकल्प अनुष्ठान किया जा रहा है। नवमी की रात 8 बजे यहां तंत्र पूजा की जाती है जो इस वर्ष भी होगी।

चैत्र और अश्विन माह की नवरात्र के अलावा गुप्त नवरात्र में भी यहां विशेष अनुष्ठान होते हैं। इसके अलावा नौतपा (रोहिणी नक्षत्र) में भी यहां विशेष अनुष्ठान होता है। इस दौरान यहां कृत्रिम नदी बनाकर उसके किनारे पर महाकाली का विशेष अनुष्ठान होता है। मंदिर में महाकाली की दिव्य मूर्ति के साथ शिवलिंग भी स्थापित है। पारद व गंधक को द्रव्य से ठोस रूप में बदलकर उसे शिवलिंग का रूप देकर यहां स्थापित किया गया है। यहां लिंग पारद की है और जलधारी गंधक की है और महाकाली के साथ शिवलिंग का नियमित अभिषेक किया जाता है।

Posted By: Sameer Deshpande

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags