इंदौर (नईदुुनिया प्रतिनिधि)। आयकर विभाग इंदौर की इंवेस्टिगेशन विंग ने मीडिया, खनन, एफएमसीजी और कोचिंग संचालकों के ठिकानों पर छापेमार कार्रवाई की।आयकर विभाग इंदौर की इंवेस्टिगेशन विंग ने पांच राज्यों के 70 ठिकानों पर जांच के लिए पहुंची। इंदौर केंद्रित डिजियाना समूह व सहयोगी कंपनियों के साथ गुडरिक चाय समूह और कोचिंग समूह कोटिल्य एकेडमी आयकर के निशाने पर है। आय छुपाने और कर चोरी की आशंका में गुरुवार सुबह से 250 अधिकारियों ने जांच शुरू की। देर रात तक भी जांच जारी थी। इस दौरान दस्तावेज के साथ नकदी, बैंक लाकर के रिकार्ड विभाग ने अपने कब्जे में लिए हैं।

आयकर विभाग की इंवेस्टिगेशन विंग अलसुबह खनन, मीडिया व रिटेल कारोबार में दखल रखने वाले डिजियाना समूह के ठिकानों पर छापा मारा।समूह की उमरा और पृथ्वी नामक खनन कंपनियां है। विभागीय सूत्रों के अनुसार इस समूह से जुड़ी करीब 15 कंपनियों को जांच के दायरे में लिया गया है।

डिजियाना समूह के संचालक तेजिंदरसिंह घुम्मन और सुखदेवसिंह घुम्मन हैं। उमरा और पृथ्वी नामक खनन कंपनियों के डायरेक्टरों के तौर पर करणसिंह और हेमंतसिंह के नाम सामने आए हैं।इन कंपनियों के तार डिजियाना से भी जुड़े हैं। उमरा कंपनी से मनीषी श्रीवास्तव का नाम भी जुड़ा है। मनीषी भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय से लंबे समय से जुड़े हैं। वे विजयवर्गीय के निज सहायक भी रह चुके हैं।

आयकर के सूत्रों के मुताबिक श्रीवास्तव खनन कारोबार में उमरा कंपनी में शामिल रहे। सूत्रों के मुताबिक श्रीवास्तव ने बीते दिनों उमरा के करणसिंह के साथ विदेश यात्रा की थी। दोनों मिलकर डिजनीलैंड की तरह प्रदेश में बड़ा एम्युजमेंट पार्क स्थापित करने की योजना पर काम कर रहे थे। विदेश यात्रा का उद्देश्य भी वहां के एम्युजमेंट पार्क देखना था।विभाग ने सभी के ठिकानों से जमीनों से जुड़े दस्तावेज भी जब्त किए हैं। गुडरिक समूह के मोहन लुधियानी के ठिकानों पर भी जांच चल रही है। लुधियानी भी डिजियाना के साथ कारोबार में भागीदार बताए जा रहे हैं।

इंदौर में ही 50 ठिकानों पर जांच

आयकर विभाग के अनुसार सुबह एक साथ 65 ठिकानों पर जांच शुरू हुई थी। सबूत मिलने के साथ ठिकानों की संख्या बढ़कर 70 तक पहुंच गई है। इनमें डिजियाना व उससे जुड़ी कंपनियों के साथ कौटिल्य और गुडरिक समूह मिलाकर कुल 50 ठिकानें सिर्फ इंदौर शहर में हैं। शेष ठिकाने मप्र के अन्य शहरों के साथ मुंबई, गुजरात, उत्तर प्रदेश और बंगाल में हैं।

इनमें कौटिल्य एकेडमी के इंदौर मुख्यालय के साथ समूह संचालक श्रीद्धांत जोशी के दफ्तर व घर भी टीमें जांच कर रही है। एकेडमी के भोपाल, जबलपुर, सागर और ग्वालियर के सेंटर और दफ्तरों पर जांच जारी है। अन्य प्रदेशों में जिन ठिकानों पर आयकर टीम जांच कर रही है वे डिजियाना व समूह से जुड़ी खनन कंपनियों के है। गोपनिय तरीके से जांच को अंजाम देते हुए आयकर विभाग ने सुरक्षा के लिए सीधे पुलिस मुख्यालय से बल लिया।आयकर के साथ कुल 170 पुलिस जवान व अधिकारी की तैनाती की गई है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local