IND vs NZ 3rd ODI: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विश्व क्रिकेट में धूम मचाने वाले सितारा क्रिकेटर रविवार करीब पौने दो बजे इंदौर पहुंचे। इसमें भारत और न्यूजीलैंड दोनों टीमों के खिलाड़ी शामिल हैं। एयरपोर्ट से खिलाड़ियों की बस सीधे रेडिसन होटल पहुंची। खिलाड़ियों की एक झलक पाने के लिए होटल के बाहर बड़ी संख्या में प्रशंसक मौजूद थे। हालांकि, खिलाड़ियों की बस सीधे होटल में चली गई, जिससे प्रशंसकों को निराशा हाथ लगी। इंदौर में 24 जनवरी को दोनों टीमों के बीच सीरीज का तीसरा वनडे मैच खेला जाएगा। भारतीय टीम सीरीज पर पहले ही कब्जा कर चुकी है। रायपुर मैच में जीत के बाद विराट कोहली ने ट्वीट भी क‍िया है।

इंदौर में करीब छह साल बाद वनडे मैच होने वाला है। भारतीय टीम कभी भी होलकर स्टेडियम में वनडे मैच नहीं हारी है, वहीं न्यूजीलैंड को इंदौर में कभी भी जीत नसीब नहीं हुई है। एमपीसीए सचिव संजीव राव के अनुसार, दोनों टीमें दोपहर 1.45 बजे विमान से इंदौर आईं। दोनों टीमें होटल रेडिसन में ठहरी हैं। फिलहाल रविवार को टीम के अभ्यास की कोई आधिकारिक योजना नहीं है। मैदान के सेंटर विकेट को मैच के लिए तैयार किया गया है। साथ ही प्रेस बाक्स छोर पर अभ्यास विकेट बनाए गए हैं। मैच के दौरान ही खेलो इंडिया यूथ गेम्स का प्रचार भी किया जाएगा। इसके लिए खेलो इंडिया के होर्डिंग विभिन्न् स्थानों पर लगाने की तैयारी है।

रजत की हो सकती है चांदी

भारतीय टीम में इंदौर के रजत पाटीदार भी शामिल हैं। उन्हें सीरीज में अब तक अंतिम एकादश में मौका नहीं मिला, लेकिन अब भारत सीरीज जीत चुका है। ऐसे में टीम प्रबंधन वरिष्ठ खिलाड़ियों को आराम दे सकता है, जिससे प्रशंसकों को कुछ निराशा हो सकती है। हालांकि, ऐसे में अपने गृहनगर में रजत पाटीदार को खेलने का मौका मिल सकता है। रजत इससे पहले भी भारतीय टीम में चुने जा चुके हैं, लेकिन तब भी उन्हें अंतिम एकादश में शामिल नहीं किया गया था।

40 साल में पहली बार इंदौर में इंदौरी ही सुनाएगा फैसला

इंदौर में होने वाले वनडे मैच के लिए बीसीसीआइ ने इंदौर के नितिन मेनन को ही मैदानी अंपायर नियुक्त किया है। शहर में 40 साल में पहली बार कोई इंदौरी अंपायर अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच में मैदान पर फैसला सुनाएगा। इंदौर में पहला अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच एक दिसंबर 1983 को नेहरू स्टेडियम में हुआ था। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) के एलीट पैनल में शामिल देश के एकमात्र अंपायर नितिन इसके पहले शहर में हुए तीन अंतरराष्ट्रीय मैचों में तीसरे अंपायर रह चुके हैं। इसमें न्यूजीलैंड और बांग्लादेश के खिलाफ हुए टेस्ट मैच के अलावा श्रीलंका के खिलाफ टी-20 मैच शामिल है। उनके पिता नरेंद्र मेनन भी इंदौर में दो अंतरराष्ट्रीय मैचों के दौरान तीसरे अंपायर रहे हैं। इंदौर के सुधीर असनानी एक वनडे मैच में टीवी अंपायर रह चुके हैं। इस मैच में वीरेंद्र सहवाग ने दोहरा शतक लगाया था।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close