इंदौर। मुंबई के बाहर पहली बार इंदौर में रविवार को आयोजित 19वें इंडियन टेलीविजन एकेडमी अवार्ड समारोह में 200 से ज्यादा टीवी सितारों ने शिरकत की। नेहरू स्टेडियम में आयोजित समारोह में लोगों ने भी शिरकत की। शाम 6.30 बजे कार्यक्रम की शुरुआत गायक आदित्य नारायण ने गीत रामजी की चाल देखो... से की। इस दौरान वे दर्शकों के बीच आए और उनके साथ सेल्फी ली। इसके बाद शहर की ही कथक डांसर रागिनी मक्खर ने आकृति मेहरा के गीतों पर बेहतरीन प्रस्तुति दी। इसके बाद 'बेटी' थीम पर फैशन शो हुआ। इसमें फिल्म एक्ट्रेस पूजा बत्रा समेत अनेक सेलिब्रिटीज से आभा चौधरी के कलेक्शन शोकेस किए। इंडियन आइडल प्रतिभागी सन्नी और रोहित राऊत ने भी मंच से प्रस्तुति दी। सन्नी ने 'आफरीन-आफरीन' और रोहित ने 'जी करदा' गीत सुनाया। इसके बाद जब कॉमेडियन कीकू शारदा मंच पर आए तो दर्शकों ने जोश के साथ उनका स्वागत किया। रात 12.30 तक 52 कैटेगरी में अवार्ड दिए जा चुके थे।

मध्यप्रदेश गीत पर श्रेणु पारिख और शुभांगी ने दी प्रस्तुति

कार्यक्रम में 'वंदे मातरम' और 'मेरा मध्य प्रदेश' गीत पर श्रेणु पारिख, शुभांगी अत्रे और आशीष शर्मा ने प्रस्तुति दी। इस डांस को इंदौर के ही कोरियोग्राफर रोहित आमेरिया ने कोरियोग्राफ किया है। कलाकार समीक्षा जायसवाल, कनिका मान, मुदित नायर, अर्जित तनेजा, किकू शारदा, कृष्णा अभिषेक ने किशोर कुमार के गीतों पर डांस किया। संजीव कपूर और अमृता रायचंद को बेस्ट कलेनारी ऑर्ट का अवॉर्ड दिया दिया गया। संजीव कपूर ने कहा चटोरिए इंदौर को सलाम। इंदौर स्वाद के मामले में हिंदुस्तान का दिल है। यहां आने से पहले मैंने इंदौर के 27 स्थानों पर जाकर 36 डिशेज को चखा।

वाकई इंदौर स्वच्छ : कपिल कपिल शर्मा ने कहा कि इंदौर की आबादी ज्यादा होने के बाद भी लोगों ने इसे स्वच्छ बनाया है। इंदौर और अमृतसर में ये समानता है कि दोनों ही जगह लोग खाने के बहुत शौकीन है। मुंबई में किसी से पूछे कि कहा जा रहे हो तो सब कहते हैं मीटिंग में और इंदौर के लोगों से पूछो तो कहते हैं खाने जा रहा है।

मेयर को किया सम्मानित

इंदौर के स्वच्छता में नंबर एक आने पर मेयर मालिनी गौड़ और निगमायुक्त आशीष सिंह को कार्यक्रम में सम्मानित भी किया गया। इस दौरान स्वच्छता के लिए नया गाना भी लांच हुआ। हैट्रिक के बाद अब कचरा गाड़ियों में चौका लगाएंगे गीत बजेगा। इस गीत को शंकर महादेवन ने गाया है।

अव्यवस्था से भड़के दर्शक, चलते शो में नारेबाजी

नेहरू स्टेडियम में आईटीए अवार्ड शो के दौरान टिकट लेकर शो देखने आए दर्शकों को गंदगी और स्टेज नहीं दिखने जैसी अव्यवस्था का सामना करना पड़ा। कुछ देर तो दर्शक सहते रहे लेकिन शो शुरू होने के एक घंटे बाद नारेबाजी शुरू कर दी। नाराज लोगों का कहना था कि उन्होंने बुक माय शो से 500 रुपए में टिकट खरीदे लेकिन दर्शक दीर्घा में न कुर्सियां लगाई गई न स्क्रीन। स्टेज के सामने बैठे अफसरों ने जब नारेबाजी सुनी तो हंगामा बंद करने के लिए पुलिस अफसरों को भेजा।

हमारे पैसे वापस लौटाओ

दर्शकों ने आधे घंटे तक नारेबाजी की। सीएसपी ज्योति उमठ दर्शकों से बात करने गई। दर्शकों का कहना था कि उन्हें या तो पैसे वापस लौटाएं या आगे की दीर्घा में जगह दें। आयोजन से जुड़ी टीम से चर्चा करने के बाद दर्शकों को आगे की दीर्घा में भेजा गया।

नारेबाजी मत करो धारा 144 लगी है

पुलिस अफसरों के सामने दर्शकों ने नारेबाजी की तो उन्होंने कहा कि शहर में धारा 144 लगी है। नारेबाजी बंद नहीं की तो कार्रवाई की जाएगी। दर्शक संजय पारिख ने कहा कि हमने टिकट खरीदे हैं। कम से कम सुविधा तो देनी चाहिए। सीएसपी ने कहा हंगामा मत करो, शो देख रहे बड़े अफसर नाराज हो रहे हैं।

नहीं मिली कुर्सियां

सिल्वर श्रेणी की दीर्घा में भी कई दर्शक नाराज हो गए क्योंकि उन्हें कुर्सियां ही नहीं मिली। उन्होंने पूरा शो खड़े होकर देखा। व्यवस्था में तैनात पुलिस जवान सुरक्षा संभालने के बजाए शो देखने में मशगूल रहे।

Posted By: Hemant Upadhyay