-मामला बुकिंग के नाम पर चार हजार करोड़ इकट्ठा करने का

इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि

किफायती दर पर हवाई टिकट बुक करने वाली जेट एयरवेज कंपनी के खिलाफ हाई कोर्ट में दायर जनहित याचिका में गुरुवार को केंद्र का जवाब नहीं आया। कोर्ट ने इसके लिए चार सप्ताह का समय देते हुए सुनवाई आगे बढ़ा दी। हाई कोर्ट में दायर इस जनहित याचिका में कहा है कि जेट एयरवेज कंपनी ने अगले एक साल के लिए अग्रिम बुकिंग कर ली थी। इससे कंपनी ने चार हजार करोड़ रुपए जमा कर लिए। कंपनी इस रकम से पुरानी देनदारी चुका रही है। कंपनी का यह निर्णय जनता के लिए चिंता का विषय है। याचिका में मांग की है कि कंपनी द्वारा यात्रियों से टिकट की राशि के रूप में ली गई रकम से लोन चुकाने पर रोक लगाई जाए। याचिका में सचिव नागरिक उड्डयन मंत्रालय, सचिव विदेश मंत्रालय, जेट एयरवेज और जेट एयरवेज के चेयरमैन पक्षकार हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network