फोटो : राजू पवार

- बढ़ते मरीजों को देखते हुए रेलवे प्रबंधन जुटा तैयारी में

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदौर शहर में कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए अब रेलवे स्लीपर व सामान्य श्रेणी के कोच को भी आइसोलेशन वार्ड के रूप में तैयार कर रहा है। हालांकि अभी आइसोलेशन वार्ड के रूप में एक सप्ताह में आठ से दस कोच ही तैयार हो पाएंगे। इंदौर रेलवे स्टेशन के कोचिंग डिपो में यह काम चल रहा है।

रेलवे प्रबंधन कोच की बीच की सीट को हटाकर मरीजों के लिए आरामदायक वार्ड बना रहा है। इसके अलावा कोच में दो टॉयलेट में से एक को बाथरूम के रूप में तैयार किया जा रहा है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है यदि मरीज को 14 दिन कोच में आइसोलेशन में रखा जाए तो उसे नहाने की सुविधा भी मिल सके। करीब 75 कोच इसके लिए तैयार किए जा रहे हैं। इसमें से 40 कोच इंदौर स्टेशन के कोचिंग डिपो और 35 महू स्टेशन के कोचिंग डिपो में तैयार हो रहे हैं। पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी जितेंद्र कुमार जयंत के मुताबिक, रेलवे प्रशासन ने कोरोना के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए 80 कोच वार्ड के रूप में तैयार करने का लक्ष्य रखा है। डॉक्टरों की सलाह से एक कोच में दो मरीजों को रखा जाएगा। इन कोचों को तैयार कर स्वास्थ्य विभाग को दिया जाएगा। इन कोचों को प्लेटफॉर्म, यार्ड व अन्य छोटे रेलवे स्टेशनों पर रखा जाएगा। यहां जिन कोचों को तैयार किया जा रहा है उनमें इंदौर-गांधीनगर-उदयपुर व अन्य ट्रेनों के अलग-अलग कोच शामिल हैं। कोच में रहने वाले मरीजों को मच्छर न काटें इसके लिए ऑलआउट जैसी मशीनें लगाई जाएंगी। रेलवे प्रबंधन के मुताबिक, एक सप्ताह में आठ से 10 कोच आइसोलेशन वार्ड के रूप में तैयार होंगे और 75 से 80 कोच अगले 14 दिन में तैयार हो पाएंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना