- प्रशासन ने कहा- 10 फीसदी नए एरिया, 14 के बाद भी लॉकडाउन खुलना मुश्किल

जितेंद्र यादव। इंदौर (नईदुनिया)। शहर में कोरोना वायरस अब संभावनाओं के विपरीत जाकर व्यवहार कर रहा है। अब यह नए-नए इलाकों की यात्रा कर रहा है। लोकमान्य नगर, तिलक नगर, अनूप नगर जैसे नए इलाकों में भी कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने से प्रशासन चिंता में पड़ गया है। अब जो हालात बन रहे हैं उससे जानकार भी यह कहने लगे हैं कि कोविड-19 अब थर्ड स्टेज की तरफ तेजी से बढ़ रहा है, जिससे इसके समुदाय में फैलने की आशंका है। ऐसे में 14 अप्रैल के बाद भी लॉकडाउन खुलना मुश्किल लग रहा है। प्रशासन का कहना है कि कोरोना संक्रमण के जो नए केस मिल रहे हैं उनमें 10 फीसदी नए एरिया हैं। ऐसे में 14 अप्रैल तक देशव्यापी लॉकडाउन की अवधि पूरी होने के बावजूद इंदौर में लॉकडाउन को खोला जाना मुश्किल होगा।

बहरहाल 13-14 अप्रैल तक कोरोना के नए केस देखे जाएंगे। इसमें वायरस फैलने की पद्धति का विश्लेषण करने के बाद ही कोई निर्णय लिया जा सकेगा। दरअसल, चार दिन पहले तक कोरोना वायरस रानीपुरा, दौलतगंज, चंदन नगर, खजराना जैसे इलाकों में उन्हीं परिवारों में मिल रहा था जहां पहले से कोई पॉजिटिव केस था। पर अब यह धारणा टूटती जा रही है। लोकमान्य नगर, तिलक नगर, अनूप नगर जैसे इलाकों में पॉजिटिव केस मिलने के बाद प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग इसे चेतावनी मान रहा है।

--------------------------

विश्लेषण के बाद कोई निर्णय लेंगे

आगामी दिनों में कोरोना सीमित क्षेत्र में रहा तो कंटेनमेंट एरिया को छोड़कर बाकी क्षेत्र में चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन में कुछ छूट देने के बारे में सोचा जा सकता है, पर अभी तो 10 फीसदी पॉजिटिव केस नए एरिया से आ रहे हैं। हाल ही में कुछ सैंपल पॉजिटिव आए हैं वे ओपीडी से लिए गए थे। ये सैंपल तो समुदाय से आए हैं। ऐसे में हम लॉकडाउन खोलने का खतरा मोल नहीं ले सकते, वरना वायरस नए एरिया में स्थानांतरित हो जाएगा। फिलहाल हम 13-14 अप्रैल तक देखेंगे कि वायरस फैलने की पद्धति क्या है। इसका विश्लेषण करने के बाद कोई निर्णय लिया जाएगा।

- आकाश त्रिपाठी, संभागायुक्त

चेतावनी वाली स्थिति है

नए इलाकों में कोरोना पॉजिटिव केस मिलना हमारे लिए भी चिंता का विषय है। लेकिन इससे साफ तौर पर यह नहीं कहा जा सकता है कि कोरोना समुदाय में फैल चुका है। हां, यह जरूर कह कहते हैं कि यह स्थिति चेतावनी तो है और हम थर्ड स्टेज की ओर बढ़ रहे हैं। ऐसे में लॉकडाउन को आगे बढ़ाकर आइसोलेशन बढ़ाना पड़ सकता है। नए इलाकों में जो पॉजिटिव केस मिल रहे हैं उनकी ट्रैवल हिस्ट्री और कॉन्टैक्ट हिस्ट्री देखी जाएगी। बारीकी से चेक करेंगे। यदि इनकी कोई हिस्ट्री न मिले और फिर भी पॉजिटिव आए हैं तो फिर कहा जा सकता है कोरोना समुदाय में फैल रहा है।

- डॉ. प्रवीण जड़िया, सीएमएचओ

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस