Indore Airport इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि। सोमवार को इंदाैर में रहने वाली कामिनी सावंत अपने बेटे अर्णव के साथ इंडिगों की फ्लाइट से दुबई अपने भाई के पास जाने वाली थी लेकिन एयरलाइंस ने उन्हें सफर करने से सिर्फ इस वजह से रोक दिया क्योंकि उनके पास निजी लैब की कोरोना जांच रिपोर्ट नहीं थी। जबकि वो पीसी सेठी हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमण की जांच करवाकर गई थी जिसमें उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी।

ऐसे में उनके परिजनों पर इंडिगों प्रबंधन द्वारा यात्रा से रोके जाने पर हंगामा किया। कामिनी सावंत के मुताबिक उन्हें यात्रा का टिकट बुक करने से पहले एयरलाइंस प्रबंधन ने ऐसी कोई जानकारी नहीं दी।

उन्होंने पीसी सेठी हॉस्पिटल की लैब में हुई। इसकी जांच रिपोर्ट भी आईसीएमआर के पोर्टल पर दिख रही है। यह लैब भी मान्यता प्राप्त है इसके बाद भी एयरलाइंस ने इस रिपोर्ट को मान्य नहीं किया। एेसे में अब वे निजी लैब से कोरोना की जांच करवाकर मंगलवार को इंडियो की फ्लाइट से मुंबई होते हुए दुबई जाएगी। दूसरी ओर इंडिगो प्रबंधन का कहना है कि दुबई जाने वाले यात्रियों के लिए वहां के अथॅरिटी ने प्रायवेट लैब से जांच रिपोर्ट को मान्य किया है। यात्रियों को टिकट बुक करते समय इसकी सूचना भी दी जाती है।

निजी एयरलाइंस का यह निजी निर्णय है

स्वास्थ्य विभाग के कोविड नोडल अधिकारी डॉ अमित मालाकार के मुताबिक पीसी सेठी की लैब आईसीएमआर एप्रूव्ड लैब है। इस वजह से हम अपने फार्मेट में रिपोर्ट देते है। निजी एयरलाइंस द्वारा एप्रूवड फार्मेट के आधार पर यात्री को यात्रा करने से रोकने का मामला मेरे संज्ञान में आया है। निजी एयरलाइंस ऐसा किया जाना सही नहीं है। निजी एयरलाइंस का निजी निर्णय हो सकता है कि उन्होंने किसी एजेंसी से जांच के लिए टाईअप किया हो या उसकी रिपोर्ट को ही मान्य किया हो।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस