इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। भारतीय प्रबंधन संस्थान (आइआइएम) में प्रवेश के लिए आज शहर के तीन परीक्षा केंद्र पर कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट) आयोजित हो रही हैं। सुबह 8.30 से 10.30 बजे तक पहला और 12.30 बजे से दोपहर 2.30 बजे दूसरे राउंड की परीक्षा हो चुकी है। दो राउंड की परीक्षा देकर बाहर निकलने वाले ज्यादातर विद्यार्थियों ने बताया कि प्रश्नों को जवाब देने के लिए दो घंटे का समय दिया गया था। इसमें करीब 76 प्रश्न पूछे गए थे। जबकि पिछले साल 100 प्रश्न पूछे गए थे। टेस्ट में डेटा इंटरप्रिटेशन और अंग्रेजी से पूछे गए प्रश्न कठिन लगे जबकि बाकी प्रश्न का स्तर मॉडिरेट था। शहर के तीन परीक्षा केंद्रों पर तीन राउंड में करीब पांच हजार विद्यार्थियों ने परीक्षा दी।

सैनिटाइज करने के बाद एडमिट कार्ड के फोटो का मिलान किया गया

विद्यार्थियों को एडमिट कार्ड पर फोटो चिपकाकर ले जाना था, लेकिन कुछ विद्यार्थियों ने इसमें गलती की। जिस जगह पर फोटो चिपकानी थी उसकी जगह पहले से एडमिट कार्ड में लगे फोटो के ऊपर ही फोटो चिपका दिया। कुछ विद्यार्थी पहचान पत्र घर भूल आए थे। ऐसे विद्यार्थियों ने फोन लगाकर घर से पहचान पत्र मंगवाया। परीक्षा केंद्र में प्रवेश के पहले विद्यार्थियों की लाइन लगाई गई। इसके पहले विद्यार्थियों के हाथों को सैनिटाइज किया गया और एडमिट कार्ड पर चस्पा किए गए फोटो से चेहरे का मिलान किया गया। कैट में पहली बार बायोमेट्रिक स्कैन न करते है रेटिना स्कैन किया गया।

रतलाम, धार, उज्जैन, महू और कई शहरों से पहुंचे विद्यार्थी

कैट देने के लिए इंदौर के अलावा आसपास के शहरों के भी कई विद्यार्थी पहुंचे। इसमें रतलाम, धार, सनावद, महू और कई अन्य शहरों के भी विद्यार्थी शामिल रहे। प्रतिभागी अमिता जैन ने बताया कि प्रश्नों को न ज्यादा टफ कह सकते हैं और न ज्यादा आसान। प्रश्नों का स्तर मॉडिरेट था। जिसने भी अच्छे से तैयारी की है उसका टेस्ट अच्छा गया। ओसिन जैन और भरत मंगलानी का कहना है कि 76 में से 55 से 60 प्रश्नों का जवाब दे पाए हैं। हालांकि समय कम लगा, नहीं तो और भी प्रश्नों का जवाब दे सकते थे। सनावद से आए अश्विन सामेडिया ने कहा कि इस बार बदले पैटर्न पर परीक्षा थी इसलिए मन में डर लग रहा था लेकिन प्रश्नों का स्तर बहुत ज्यादा टफ भी नहीं लगा। अच्छे पर्सेंटाइल आने की उम्मीद है।

120 अंक के प्रश्नों का जवाब देने वालों को मिल सकते हैं 99 पर्सेंटाइल

कैट में वर्बल एबिलिटी सेक्शन में 26 प्रश्न पूछे गए थे। इसमें से 18 रीडिंग काम्प्रिहेंशन के प्रश्न थे। यह सेक्शन मीडियम से टफ के बीच रहा। डेटा इंटरप्रिटेशन एवं लॉजिकल रीजनिंग से 24 प्रश्न पूछे गए थे। इसका स्तर भी मीडियम से टफ के बीच रहा। पिछले साल के मुकाबले यह सेक्शन आसान रहा। क्वांटिटेटिव एबिलिटी में भी 26 प्रश्न पूछे गए थे। इसे विद्यार्थियों ने लेंदी बताया। प्रश्नों के जवाब देने में समय भी ज्यादा लगा। परीक्षा विशेषज्ञ आकाश सेठिया ने बताया कि जिन विद्यार्थियों ने 120 अंक के प्रश्नों का जवाब दिया उन्हें 99 पर्सेंटाइल आ सकते हैं। इस बार तीन के बजाय दो घंटे का टेस्ट था। टेस्ट में 76 प्रश्न पूछे गए थे। जिन्होंने 50 प्रश्नों के सही जवाब दिए होंगे उन्हें बेहतर पर्सेंटाइल मिल सकते हैं। 100 अंक के प्रश्नों के जवाब देने पर 95 के आसपास पर्सेंटाइल आ सकते हैं।

Posted By: dinesh.sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस