Indore City Congress: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर कांग्रेस अध्यक्ष पद पर अरविंद बागड़ी की नियुक्ति की घोषणा के 24 घंटे के भीतर ही फैसले को होल्ड पर रख दिया गया। इससे पहले कांग्रेस के ही नेता प्रतिपक्ष सहित शीर्ष नेताओं ने भोपाल में प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ के समक्ष बागड़ी का विरोध किया।

शहर में गांधी भवन पर भी बागड़ी के विरोध में पुतले जलाए गए। हालांकि बागड़ी का कहना है कि उन्होंने आधिकारिक रूप से पदग्रहण कर लिया है और फैसले को होल्ड पर रखने की उन्हें कोई सूचना नहीं है। वहीं पूर्व अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने दावा किया है कि उन्होंने सोमवार शाम दोबारा अध्यक्ष पद संभाल लिया है।

प्रदेश कांग्रेस में रविवार को बड़े स्तर पर संगठन में फेरबदल किया गया था। इसमें इंदौर में विनय बाकलीवाल के स्थान पर अरविंद बागड़ी को शहर कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त किया गया था। इसके बाद से ही उनका विरोध शुरू हो गया था। सोमवार सुबह गोलू अग्निहोत्री, नेता प्रतिपक्ष चिंटू चौकसे, सादिक खान, अयाज बेग, दीपू यादव सहित कई कांग्रेसी नेता भोपाल में प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ से मुलाकात कर विरोध दर्ज कराया।

नेता प्रतिपक्ष चिंटू चौकसे ने बताया कि हमने सोमवार दोपहर प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ से मुलाकात की थी। उन्हें बताया कि अरविंद बागड़ी सांवेर उपचुनाव में नहीं दिखे। लंबे समय से वे पार्टी के किसी आंदोलन में शामिल नहीं हुए और न ही गांधी भवन पहुंचे हैं। उनके कथित रूप से भाजपा नेताओं से नजदीकी संबंध हैं। ऐसे व्यक्ति को अध्यक्ष बनाना गलत है।

सोमवार शाम बागड़ी ने कांग्रेस कार्यालय गांधी भवन पहुंचकर पदभार ग्रहण किया। इसके कुछ देर बाद उन्हें अध्यक्ष बनाने के फैसले को होल्ड पर रखने का फरमान जारी हो गया। इसके कुछ देर बाद गांधी भवन में पूर्व अध्यक्ष विनय बाकलीवाल पहुंचे और दोबारा अध्यक्ष का चार्ज ले लिया। विवाद के बीच इंदौर के प्रभारी महेंद्र जोशी ने बताया कि इंदौर शहर अध्यक्ष का फैसला फिलहाल होल्ड कर रख दिया गया है। उल्लेखनीय है कि करीब साढ़े तीन साल से विनय बाकलीवाल शहर अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।

समर्थकों के साथ प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पहुंचे बाकलीवाल

इंदौर शहर कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटाए गए विनय बाकलीवाल समर्थकों के साथ प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पहुंचे। इस दौरान उनके समर्थकों ने नारेबाजी की। संगठन प्रभारी राजीव सिंह ने उन्हें अलग ले जाकर बात की।

विनय बाकलीवाल ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस कार्यालय हमारा घर है। हम अपनी बात रखने के लिए आए हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष से चर्चा करेंगे। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में नारेबाजी किए जाने पर उन्होंने कहा कि समर्थकों ने कांग्रेस जिंदाबाद और कमल नाथ जिंदाबाद के नारे लगाए हैं तो इसमें गलत क्या है। जहां तक नए शहर कांग्रेस अध्यक्ष का सवाल है तो यह हमसे ज्यादा आप लोग समझते हैं कि किसका चयन हुआ। बाकलीवाल समर्थकों ने अरविंद बागड़ी को भू माफिया बताया है। विरोध के चलते बागड़ी की नियुक्ति को प्रदेश प्रभारी जयप्रकाश अग्रवाल ने रोक दिया है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close