इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में पिछले एक सप्ताह से प्रतिदिन 500 से ज्यादा नए संक्रमित मिल रहे हैं। ऐसे में कोविड संक्रमित व उनके संपर्क में आने वाले लोगों की जांच के लिए टीमें कम पड़ने लगी हैं। अभी तक स्वास्थ्य विभाग की 76 टीमों में 38 आरआरटी (रैपिड रिस्पांस टीम) व इतनी ही सैंपलिंग टीमें संक्रमित मिलने पर उसके परिवार व गलियों में जांच के लिए पहुंचती थीं। इनमें से भी 32 टीमें थाना स्तर पर बनाई गई हैं। छह-छह टीमों को रिलीविंग टीम के रूप में रखा गया है।

संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने के कारण ये टीमें भी जांच के लिए कम पड़ती जा रही हैं। ऐसे में अब ज्यादा संख्या में सैंपलिंग व रैपिड रिस्पांस टीम बनाने की जरूरत महसूस हो रही है। जिन इलाकों में ज्यादा संक्रमित मिल रहे हैं वहां पर जांच के लिए नई टीमें बनाई जा रही हैं। स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन द्वारा शहर में कई दिनों बाद ज्यादा मरीजों की संख्या के आधार पर साउथ तुकोगंज व खातीवाला टैंक को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया है। ऐसे में इन इलाकों में जांच के लिए रैपिड रिस्पांस टीम के लिए दो अतिरिक्त मोबाइल मेडिकल यूनिट बनाई गई हैं ताकि वो इन इलाकों में जाकर सैंपलिंग कर सकें।

आइसोलेशन व कंटेनमेंट एरिया की जांच के लिए मिली टीमें

कोविड कंट्रोल रूम द्वारा जांच टीमों के लिए स्टाफ बढ़ाने के लिए लंबे समय से मांग की जा रही थी। हाल ही में 10 डॉक्टर मरीजों को आइसोलेट करने वाली टीम के लिए और कंटेनमेंट एरिया में जांच के लिए दो टीमें जिसमें एक डॉक्टर, सैंपलिंग डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ दिया गया है। इसके अलावा अब आरआरटी टीम को जांच स्थल पर पहुंचने के लिए अलग से वाहन भी उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। अभी तक सैंपलिंग टीम व आरआरटी टीम एक साथ एक ही वाहन में जाती थी, लेकिन अब दोनों टीमों को अलग-अलग वाहनों से भेजा जा रहा है।

Posted By: dinesh.sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस