Indore Coronavirus News Update : इंदौर शहर में शुक्रवार को जारी की गई रिपोर्ट में 83नए पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। संक्रमण दर 9 फीसद रही जो गुरुवार के मुकाबले कम रही। इसके साथ ही संक्रमित मरीजों की संख्या 2933 तक पहुंच गई है। जल्द ही इंदौर में संक्रमित मरीजें की संख्या 3000 पार हो जाने की आशंका है। दो की मौत पुष्टि के साथ ही कोरोना से मरने वालों की संख्या 111 तक पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार के 972 सैंपल एकत्रित किए गए थे। इनमें से 926 सैंपल की जांच हुई जिसमें 841 निगेटिव मरीज मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक शुक्रवार को 113 मरीजों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया। इसके साथ ही अब तक स्वस्थ हुए मरीजों की संख्या 1381 के ऊपर पहुंच गई है। फिलहाल 1451 मरीजों का इलाज अस्पताल में चल रहा है।

घर के पास रहने वाले रिश्तेदार आए थे पॉजिटिव, फिर सात सदस्य हुए संक्रमित

जूनी इंदौर में रहने वाले एक परिवार के सात सदस्यों में से तीन शुक्रवार को स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। कोराना पॉजिटिव आने पर इन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया था। परिवार के एक सदस्य ने बताया कि पास में ही रहने वाले रिश्तेदार पॉजिटिव आए थे। इनमें 65 साल के बुजुर्ग बाहर भी नहीं गए, फिर भी संक्रमित निकले। इसके बाद हमारी जांच कराई तो सात सदस्य पॉजिटिव आए।

शुक्रवार को गोस्वामी परिवार के 49 वर्षीय केसी गोस्वामी, 56 वर्षीय अवनिपुरी और 22 वर्षीय काजोलपुरी को अरबिंदो अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। काजल के मुताबिक डॉक्टरों ने अस्पताल में सभी का ध्यान रखा। उनके हौसले के कारण ही हमारा आत्मविश्वास बना रहा जिससे हम यह जंग जीते। परिवार के अन्य सदस्य भी जल्द ही घर लौटेंगे। स्वस्थ होने वालों में बंगाली कॉलोनी की नीभा राय भी शामिल थीं। उन्होंने बताया कि उन्हें 4 या 5 मई को बुखार आया। दवाई लेने पर वे ठीक हो गई, लेकिन कुछ दिन बाद फिर बुखार आ गया। जांच के लिए आई आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को इस बारे में बताया। इसके बाद जांच हुई जिसमें पॉजिटिव होने का पता चला। अब ठीक होकर घर जा रही हूं। डिस्चार्ज होने वाले तिलक नगर निवासी प्रदीप जैन के अनुसार रानीपुरा में उनकी दुकान थी जो लॉकडाउन के बाद से बंद है। कॉलोनी में स्क्रीनिंग के लिए टीम आई थी। सर्दी होने पर जांच कराई थी और रिपोर्ट आई तो पॉजिटिव होने का पता चला। परिवार में अन्य कोई सदस्य पॉजिटिव नहीं आया।

113 मरीज हुए डिस्चार्ज

शुक्रवार को इंडेक्स मेडिकल कॉलेज अस्पताल से 63 व अरबिंदो अस्पताल से 50 मरीज डिस्चार्ज हुए। इंडेक्स मेडिकल कॉलेज से तीन साल की एक बालिका व पांच साल के बालक को डिस्चार्ज किया गया।

कोरोना से जीते, निमोनिया से हारे

तीन दिन से अरबिंदो अस्पताल में भर्ती 60 साल के बुजुर्ग कोरोना से तो जीत गए, लेकिन निमोनिया से हार गए। आइसीयू वार्ड में भर्ती बुजुर्ग की शुक्रवार दोपहर मौत हो गई। अस्पताल में एक तरफ लोग स्वस्थ होकर घर जा रहे थे, वहीं दूसरी ओर एक प़ेड के नीचे बुजुर्ग के रिश्तेदार उनकी पत्नी को संभाल रहे थे। बुजुर्ग के रिश्तेदार पवन सालेचा ने अस्पताल में बताया कि वर्धमान नगर में रहने वाले प्रकाश जैन (60) को तीन दिन पहले सीने में दर्द व सांस लेने में तकलीफ की शिकायत हुई थी। उनके दो बेटे अस्पताल लेकर गए, लेकिन किसी ने भर्ती नहीं किया। फिर अरबिंदो अस्पताल लाए, जहां भर्ती कर कोरोना जांच के लिए सैंपल लिए गए। छोटा बेटा खुद संक्रमण के बीच उनके साथ रहा। शुक्रवार को कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट निगेटिव आई, लेकिन निमोनिया से उनकी मौत हो गई। हम सुबह ही यहां आए थे, उनकी पत्नी को अंदर मिलवाकर भी लाए।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना