इंदौर। भय्यू महाराज आत्महत्या प्रकरण में गुरुवार को उपनिरीक्षक मगन चौहान के बयान हुए। उन्होंने कोर्ट को बताया कि उन्होंने शव का पंचनामा बनाकर गवाहों के हस्ताक्षर करवाए थे। बाद में यह फॉर्म एसडीएम को सौंप दिया था। गवाह ने स्वीकारा कि फार्म में उन्होंने लिखा था कि मौत की जांच करेंगे लेकिन उन्होंने कोई जांच नहीं की। प्रकरण में अब तक ढाई दर्जन गवाहों के बयान हो चुके हैं। भय्यू महाराज ने 12 जून 2018 को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने इस मामले में उन्हीं के तीन सेवादार पलक, विनायक और शरद को गिरफ्तार किया है। आरोपित ढाई साल से जेल में हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local