इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Indore Crime News। 40 लाख की धोखाधड़ी में गिरफ्तार तांत्रिक छोटू महाराज उर्फ सीमानंद गिरि उर्फ सीमा उर्फ सिमरन के राज खुलते जा रहे हैं। चाय का ठेला लगाकर गुजर-बसर करने वाली सिमरन उर्फ छोटू महाराज को पति और दोस्तों से धोखा खाकर तांत्रिक की शरण में जाना पड़ा। आखिरकार लोगों की समस्याएं हल करने का दावा करने वाली छोटू खुद हवालात पहुंच गई।

विजय नगर थाना टीआइ तहजीब काजी के मुताबिक छोटू महाराज शादी के पहले चाय का ठेला लगाती थी। शिप्रा निवासी प्रकाश मिश्रा से शादी के बाद चाय की दुकान पर बैठने लगी। दो बच्चे हुए और उनकी शादी भी करवा दी। वर्ष 2008 में पति-पत्नी में विवाद हुआ और वे अलग हो गए। इस दौरान पास रहने वाले एक युवक से दोस्ती हुई। कल्प कामधेनु नगर में उसने सिमरन ब्यूटी पार्लर खोला। दोनों ने किराये से मकान लिया और लिवइन रिलेशन में रहने लगे। छोटू ने खुद का नाम सिमरन रख लिया और दोस्त को राज के नाम से पुकारने लगी। दो साल बाद दोनों में विवाद हुआ और सिमरन ने ध्यान-साधना शुरू कर दी। फेसबुक पर एक तांत्रिक की जानकारी जुटाई और उसकी शरण में पहुंच गई। सिंहस्थ में भी आश्रम बनाया। वर्ष 2017 में पंजाब के एक तांत्रिक से दोस्ती की और सुपर कोरिडोर पर उसके आश्रम में आ गई। तांत्रिक शराब पीने का आदी था, इसलिए आश्रम छोड़ कर भाग गया और छोटू ने कब्जा जमा लिया।

डरावनी आवाज निकालता और लोग भाग जाते

टीआइ के मुताबिक छोटू महाराज से पूछताछ के बाद आरोपित किरण उर्फ राज और विष्णु को हिरासत में लिया। छोटू और उसके साथी रवि उर्फ रविराज ने जो रुपये इकट्ठे किए थे, उन्हें दोगुना करने के लालच में गवां दिए। विष्णु तंत्र क्रिया के जरिये रुपयों की बारिश का दावा करता था। विष्णु बोलता था कि पूजन के दौरान किसी को डरना नहीं है। साधना के बीच से उठे तो बारिश रुक जाएगी। आरोपित अमावस के अंधेरे में साधना करने बैठते और अचानक धुआं कर भूत आने की बात कहते। विष्णु का साथी डरावनी आवाज निकालता और लोग वहां से भाग जाते थे।

Posted By: gajendra.nagar

NaiDunia Local
NaiDunia Local