इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। राज्य साइबर सेल ने आयात-निर्यात करने वाली कंपनियों के जाली डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट (डीएससी) से रिबेट आफ स्टेट एंड सेंट्रल टैक्सेस एंड लेवीज (आरओएससीटीएल) की हेराफेरी करने वाले गिरोह के सदस्य को गिरफ्तार किया है। आरोपित बालीवुड अभिनेत्री सोनम कपूर के ससुर हरीश आहुजा के साथ भी 27 करोड़ रुपये की ठगी कर चुका है। गिरोह के कई सदस्य तिहाड़ (दिल्ली) जेल में बंद हैं।

एसपी (साइबर) जितेंद्र सिंह के मुताबिक 17 दिसंबर 2020 को प्रतिभा सिंटेक्स लि. (पीथमपुर) के वाइस प्रेसिडेंट पवन कुमार शर्मा ने एक करोड़ 25 लाख रुपये कीमती 10 आरओएसएल/आरओएससीटीएल की हेराफेरी की शिकायत दर्ज करवाई थी। जांच में खुलासा हुआ कि जालजासों ने कंपनी के फर्जी डीएससी से बदलापुर ईस्ट ठाणे (महाराष्ट्र) की कंपनी ब्लैक कर्व को बेचे हैं। पुलिस ने तकनीकी जांच के आधार पर आरोपित मनीष अग्रवाल,(दिल्ली), गणेश भूषण (कर्नाटका), प्रवीण अग्रवाल उर्फ मनोज राणा (दिल्ली), अनिल जैन (दिल्ली), सुरेज जैन (चेन्नई) को चिन्हित किया और दिल्ली, मुंबई व चेन्नई में छापे मारे।

भेजा जेल - इसी बीच जुलाई 2021 में आरोपितों ने अभिनेत्री सोनम कपूर के ससुर हरीश आहुजा की गामेंट्स कंपनी शाही एक्सपोर्ट फैक्टर (फरीदाबाद) के 27 करोड़ रुपये कीमती आरओएससीटीएल लाइसेंस चुरा लिए। साइबर सेल ने कोर्ट से प्रोडक्शन वारंट जारी करवाकर आरोपित मनीष पुत्र हरीशचंद्र अग्रवाल निवासी गीतांजलि पार्क दिल्ली को रिमांड पर ले लिया। पुलिस ने शुक्रवार को उससे पूछताछ की लेकिन अचानक तबीयत बिगड़ने पर शनिवार दोपहर जेल भेजना पड़ा।

फर्जी कंपनी को बेचे नामी कंपनी के आरओएससीटीएल - एसपी के मुताबिक सरकार आयात-निर्यात को बढ़ावा देने के लिए कंपनियों को उपहार स्वरूप आरओएससीटीएल लाइसेंस देती है। कंपनी के पास खरीद फरोख्त के लिए कोड होते हैं। जिस आरोपित को गिरफ्तार किया वह पूर्व में आयकर आफिस में एजेंट के रूप में काम करता था। वह उन कंपनियों को निशाना बनाता जिनके वालेट में करोड़ों के आरओएससीटीएल जमा होते थे। जांच में पता चला जिस कंपनी (ब्लैक कर्व) में प्रतिभा सिंटेक्स के आरओएससीटीएल ट्रांसफर किए वह आरोपितों द्वारा बनाई फर्जी कंपनी थी।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close