बड़े बेटे को छह महीने से दुष्कर्म के आरोप में तलाश रही है महिला थाना पुलिस, इनामी राशि बढ़ाकर 15 हजार की

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। उज्जैन जिले की बड़नगर विधानसभा से कांग्रेस विधायक मुरली मोरवाल की मुसीबतें बढ़ती जा रही हैं। दुष्कर्म के मामले में फरार बड़े बेटे करण के कारण छोटे बेटे शिवम को हिरासत में रहना पड़ा। विधायक शिवम को छुड़ाने थाने पहुंचे और करण के बारे में सफाई पेश की। उधर पुलिस ने करण पर इनाम राशि बढ़ा कर 15 हजार रुपये कर दी है। शासकीय कार्यालयों और सार्वजनिक स्थलों पर पोस्टर भी लगाए है।

महिला थाना प्रभारी ज्योति शर्मा के मुताबिक करण की पिछले छह महीने से तलाश जारी थी। कुर्की की कार्रवाई करने पर करण ने करोड़ों रुपये कीमती संपती दान में देना बता दी। इसके लिए उसने शिवम को अधिकृत किया था। मंगलवार सुबह बड़नगर पुलिस,महिला थाना टीम और क्राइम ब्रांच ने विधायक के घर दबिश दी और शिवम को हिरासत में ले लिया। दबाव बनाने पर विधायक पलासिया थाने पहुंचे और टीआइ से बात की।

टीआइ ने समझाया कि करण की हाईकोर्ट से जमानत निरस्त हो चुकी है। उसके पास समर्पण के अलावा कोई रास्ता नहीं है। उसके बारे में स्वजनों को सारी जानकारी है। पेश नहीं हुआ तो पुलिस दूसरे हथकंडे अपनाएगी। विधायक ने सफाई दी और कहा करण उसके संपर्क में नहीं है। जैसे आता है पेश होने की सलाह दूंगा। उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस को थोड़ा मौका देना चाहिए। करण सुप्रीम कोर्ट से अग्रीम जमानत के लिए अर्जी दायर कर रहा है। करीब आधे घंटे चली पूछताछ के बाद विधायक रवाना हो गए। इस दौरान उन्होंने मीडिया के किसी भी सवालों का जवाब नहीं दिया।

उल्‍लेखनीय है कि होटल में नशा कराकर कांग्रेस नेत्री से दुष्कर्म के मामले में फंसे विधायक मुरली मोरवाल के बेटे करण मोरवाल को हाई कोर्ट से राहत नहीं मिली है। करण ने अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर की थी। इसके बाद कोर्ट ने इसे खारिज कर दिया। उल्‍लेखनीय है कि मोरवाल के बेटे करण मोरवाल पर कांग्रेस कार्यालय में कार्यरत 27 वर्षीय महिला ने दो अप्रैल 2021 को महिला पुलिस थाने में दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

इसमें पीड़िता का आरोप है कि 14 फरवरी 2021 को करण उसे एक होटल में ले गया था। वहां उसने ड्रिंक में नशीली वस्‍तु पिला दी। इसके बाद वह उसे फ्लैट पर ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। नशा उतरने पर पीड़िता को इस बात का पता चला । विरोध पर करण ने उसे शादी का आश्वासन दिया। इसके बाद उसने एकाधिक बार उससे संबंध बनाए। इसके बाद पुलिस ने करण के खिलाफ दुष्कर्म की धाराओं में प्रकरण दर्ज कर उसकी तलाश शुरू की लेकिन वह हाथ नहीं आया। 24 अगस्त 2021 को उसे फरार घोषित कर दिया गया।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local