Indore Crime News : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। राऊ थाने के पुलिसवालों पर जानलेवा हमला करने वाला सिरफिरा आठ महीने बाद पकड़ा गया। वह उज्जैन, कामाख्या देवी के श्मशान घाटों में फरारी काट रहा था। पुलिस उसे होटल, ढाबों और गांवों में तलाश रही है। आरोपित स्वयं को देवी मां का भक्त बता रहा है। खुद का हाथ काटकर देवी की तस्वीर पर खून चढ़ाता है। पुलिसवालों ने उसे टोका को हमला कर भाग गया।

डीसीपी जोन-1 अमित तोलानी के मुताबिक पिछले साल सितंबर में राऊ थाने के एएसआइ अमिन खान और प्रधान आपक्षक अजय पर शिवनंदन पुत्र रामचरण पटेल निवासी इटमा अमरपाटन सतना ने चाकू से हमला दिया था। पुलिस ने उसकी तलाश में सतना-नागपुर और पुणे में दबिश दी लेकिन शिवनंदन का सुराग नहीं मिला। बुधवार रात पुलिस ने उसे सतना के एक ढाबे से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में शिवनंदन बहकी-बहकी बातें कर रहा था। उसने बताया कि वह देवी मां की तस्वीर रखता है। उस वक्त भी आराधना कर रहा था। स्वयं का हाथ काटकर खून अर्पित कर रहा था। लोगों ने पुलिसवालों को बुला लिया। पुलिसवाले उसकी तलाशी लेने लगे तो हमला कर दिया। आरोपित ने बताया कि हमले के बाद उज्जैन चला गया और मुक्तिधाम (श्मशान घाट) में ही रहा। इसके बाद भोपाल, विजयवाड़ा, कामाख्या देवी में भी श्मशान घाट में ही रहा। पुलिस ने जगह जगह उसके पोस्टर चस्पा करवा दिए थे। तीन दिन पूर्व सतना आया तो ढाबा संचालक ने उसे देखकर पुलिस को खबर कर दी। राऊ टीआइ नरेंद्र रघुवंशी के मुताबिक आरोपित ट्रक चलाता है।

दूल्हे के चचेरे भाई की हत्या करने वाले तीन भाई गिरफ्तार

आलोक नगर मुसाखेड़ी में बुधवार रात हुई हत्या के तीनों आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपितों ने डीजे पर गाना न बजाने की बात पर हमला कर हत्या की थी। एडीसीपी जोन-1 जयवीरसिंह भदौरिया के मुताबिक आलोक नगर निवासी अनिल चौहान की बरात थी। चचेरा भाई विनोद और मनोज नाच रहे थे। डीजे की गाड़ी लेकर आए अस्सु से विवाद हो गया और विनोद ने अस्सू को चांटा मार दिया। अस्सु ने भाई दीपक और लखन को बुलाया और विनोद और मनोज पर हमला कर दिया। विनोद की उपचार के दौरान मौत हो गई। गुरुवार सुबह पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

हनीबल हत्याकांड : आरोपित ट्रांसपोर्टर गिरफ्तार

भंवरकुआं पुलिस ने संतनगर निवासी हरीतसिंह हनीबल हत्याकांड में फरार आरोपित गुरविंदरसिंह उर्फ बिट्टू बोपाराय को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित ने तीन महीने पूर्व प्रतीक ग्रेवाल, मनमीत सिंह, मनजोत सिंह के साथ मिलकर हनीबल की हत्या कर दी थी।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close