इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। संगठित अपराधों पर नकेल कसने वाली विशेष इकाई अब मिलावटखोरों के विरुद्ध कार्रवाई करेगी। सरकार से मिलावट माफियाओं पर कार्रवाई की हरी झंडी मिलने के बाद पुलिस मुख्यालय ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। इंदौर स्पेशल टास्क फोर्स ने उन जगहों पर छापे मारने शुरू कर दिए जहां नकली खाद्य पदार्थ बनाए जा रहे हैं। अफसरों को स्थानीय थाना वालों से मिलीभगत का भी शक है।

बता दें कि स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) अभी तक अपहरण, लूट, अवैध हथियार, नकली नोट जैसे गंभीर मामलों की जांच करती थी, लेकिन ये टीम अब मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई में जुट गई है। पिछले दिनों पालदा क्षेत्र में नकली हींग बनाने वाले कारखाना पर छापा मारकर लाखों की नकली हींग व अपमिश्रित सामग्री जब्त की थी। सूत्रों के मुताबिक कारखाना वर्षों से चल रहा था और पुलिसकर्मी भी इस बात से वाकिफ थे। स्थानीय पुलिस की मिलीभगत की आशंका के चलते भी कार्रवाई का जिम्मा एसटीएफ को सौंपे जाने की वजह मानी जा रही है।

नक्कालों पर रासुका लगेगी, मकान भी टूटेंगे

दूसरी विंग द्वारा कार्रवाई करने से थानों पर हड़कंप मच गया है। एसपी (पश्चिम) महेशचंद जैन ने सभी को अलर्ट कर चेताया कि उनके क्षेत्र में अवैध गतिविधि, मिलावटखोरी जैसे मामले सामने आने पर जिम्मेदारी तय की जाएगी। मिलीभगत मिलने पर कार्रवाई भी होगी। एसपी के मुताबिक मिलावटखोरों पर रासुका के तहत कार्रवाई होगी। उनके अवैध निर्माणों को भी नहीं छोड़ा जाएगा। हींग बनाने वाले कारोबारी जगदीश माखिजा, मुकेश माखिजा अौर सुमित गुप्ता पर भी रासुका लगाकर जेल भेजा गया है।

Posted By: dinesh.sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस