Indore Crime News : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। 50 करोड़ रुपये से ज्यादा के फोरेक्स ट्रेडिंग घोटाले में गिरफ्तार आरोपित मोनिका बिष्ट को विजय नगर पुलिस ने बुधवार को जेल भेज दिया। उसे मोबाइल लोकेशन के आधार पर हैदराबाद से गिरफ्तार किया गया था। मोनिका ने पूछताछ में मास्टर माइंड कंपनी संचालक अतुल नेतनराव को ही बताया है। यह भी कहा कि अतुल उसे घुमाने के लिए दुबई ले गया था।

विजय नगर टीआइ रविंद्रसिंह गुर्जर के मुताबिक, मोनिका ही अतुल की कंपनी प्लेटिनम ग्लोबल फोरेक्स ट्रेडिंग में काम काज संभालती थी। उसके पति अनिल बिष्ट की गिरफ्तारी के बाद वह फरार हो गई थी। मामले में उस पर इनाम भी घोषित हो चुका था। पूछताछ के वक्त मोनिका ने बताया कि अतुल जो काम देता था, वह कर देती थी। ज्यादातर काम कंप्य्टूर संबंधित होता था। उसने यह भी स्वीकारी कि अतुल उसे विदेश घुमाने भी लेकर गया था। लाखों रुपये सैलरी और महंगे उपहार भी कर्मचारियों को देता था।

दुबई में बैठा मास्टर माइंड, एलओसी जारी - टीआइ के मुताबिक मामले में अनिल बिष्ट, मोनिका बिष्ट, हरदीप सलूजा, पुष्पेंद्र और सोनिया की गिरफ्तारी हो चुकी है, जबकि मास्टर माइंड अतुल और उसकी पत्नी पारुल फरार है। वह दुबई में बैठा हुआ है। पुलिस ने उसके घर और अन्य ठिकानों पर भी छापे मारे, लेकिन सफलता नहीं मिली। थक कर उसके विरुद्ध लुक आउट सर्कुलर जारी करवाया है।

दो प्रकरणों में है तलाश - आरोपितों पर विजय नगर थाने में दो केस दर्ज हो चुके हैं। पहला केस देवेश निवासी बिजलपुर की शिकायत पर और दूसरा राजेंद्र सिंह निवासी नीमच की शिकायत पर दर्ज हुआ था। मामले की जांच के लिए एसआइटी भी गठित हो चुकी है। पुलिस को जानकारी मिली है कि आरोपित अतुल फरारी के दौरान ही फरियादियों को प्रलोभन देकर समझौता करने की कोशिश कर रहा है। एडिशनल डीसीपी जोन-2 राजेश व्यास के मुताबिक पुलिस के पास कुछ और शिकायतें भी आई हैं।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close