Indore Crime News: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। फोरेक्स ट्रेडिंग घोटाले में पुलिस ने शिल्पी सौरभ को झारखंड से गिरफ्तार किया है। वह सरनगा अतुल नेतनराव की बेहद करीबी थी। आफिस का सारा काम भी उसके जिम्मे ही था। पूछताछ में उसने बताया कि नेतनराव करोड़ों का घोटाला करने के बाद कर्मचारियों को गोवा और दुबई की सैर करवाता था।

इंदौर की विजय नगर पुलिस ने फोरेक्स ट्रेडिंग घोटाले में दो प्रकरण दर्ज किए थे। मामले में सरगना अतुल नेतनराव, उसकी पत्नी पारुल, भाई अरविंद नेतनराव सहित कर्मचारी सोनिया, चेतन, हरदीप, अनिल बिष्ट सहित कई लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। दो दिन पूर्व पुलिस ने शिल्पी पति सौरभ को बोकारो झारखंड से गिरफ्तार कर लिया। शिल्पी से पूछताछ की तो बताया कि वह 2019 में इंदौर के महालक्ष्मी नगर में रहने आई थी। इसी दौरान अतुल की कंपनी की जानकारी लगी। वर्ष 2020 में प्लेटिनम ग्लोबल नामक कंपनी में नौकरी ज्वाइन कर ली। एक साल काम करने के बाद वह चली गई।

80 लोगों को ले गए थे टूर पर - कुछ दिनों बाद शिल्पी ने घोटाले में लिप्त अन्य कंपनी यूनी ट्रेड को ज्वाइन कर लिया। इस कंपनी का कर्ताधर्ता अरविंद सेठ था। अरविंद इतना शातिर था कि वह शिल्पी को ग्रेस इन्फोटेक कंपनी से वेतन देता था। अरविंद और अतुल कर्मचारियों को गोवा और दुबई घुमाने ले जाते थे। शिल्पी भी कंपनी की तरफ से 2020 में गोवा गई थी। इस टूर में दिल्ली, बिहार, ओड़िशा, पश्चिम बंगाल के करीब 80 लोग भी शामिल थे। जांच अफसरों के मुताबिक, घोटाला अतुल और अरविंद ने मिलकर किया था। जांच एजेंसियों को चमका देने के लिए उन्होंने अलग अलग कंपनियां बना ली थी।

प्ले स्टोर पर बनाए फर्जी एप - अतुल फोरेक्स ट्रेडिंग के नाम पर फर्जीवाड़ा करता था। उसने प्ले स्टोर पर ऐसे एप बना लिए थे। लोग झांसे में आकर करोड़ों रुपये निवेश करने लगे। इसके बाद वह गूगल से एप ही हटवा देता था।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close