इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि,Indore Electricity News। क्या आप सोच सकते हैं शहर में सकारात्मक ढंग से सोचने वाले व्यक्तियों या संस्थाओं की पहल साल में आठ करोड़ की बिजली बना सकती है। शहर में ऐसा ही हुआ है। शहर में करीब 850 स्थानों पर हजारों सोलर पैनल्स लगी है। इन्होंने बीते वर्षभर में करीब सवा करोड़ यूनिट बिजली बनाई है, जिनकी बाजार कीमत आठ करोड़ रुपये के करीब है।

शहर में चार साल से सोलर एनर्जी के लिए ज्यादा प्रयास हो रहे हैं, लोग खुद ब खुद अपनी छतों के खाली स्थान को पैनल्स के लिए उपयोग करने के लिए आगे आ रहे हैं। इससे न केवल ग्रीन एनर्जी को बढ़ावा मिल रहा है, बल्कि उनके परंपरागत बिजली बिल में भी काफी कमी हो रही है। शासन के आदेशानुसार ने मीटरिंग के तहत् जितनी बिजली छत से उत्पादित हुई है, वह उपयोग की गई बिजली से कम कर बिल दिया जाता है। शहर में पांच सौ परिवार ऐसे है, जिनका बिल करीब आधा हो गया है। बिजली कंपनी के हर जोन में नेट मीटरिंग के जरिए छतों से बिजली लाइनों में प्रवाहित होती है। सबसे ज्यादा नेट मीटरिंग कनेक्शन सत्यसांई जोन में हुए हैं, जिनकी संख्या 100 के करीब है। घरों के अलावा रेल्वे स्टेशन, एमवायएच, एयरपोर्ट, नगर निगम के कचरा ट्रांसफर स्टेशन की छतों से भी पैनल्स के माध्यम से बिजली उत्पादित की जाती है। कुछ घर ऐसे भी हैं, जो माह में 1500 यूनिट तक बिजली उत्पादित करते हैं।

इंदौर शहर के लोगों और संस्थाओं द्वारा सोलर एनर्जी को बढ़ावा देना अच्छा कदम है। इससे वर्ष 2020 में करोड़ों की बिजली उत्पादित हुई है। हमारे सभी कार्यालयों में नेट मीटरिंग के तहत् प्रकरणों को जल्द से जल्द मंजूर करने के आदेश हैं।- अमित तोमर, एमडी, मप्रपक्षेविविकं, इंदौर

Posted By: gajendra.nagar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags