इंदौर। मध्यप्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट मंगलवार सुबह चोइथराम नेत्रालय में भर्ती मरीजों से मिले। उन्होंने हर एक मरीज से बात की और उन्हें बीपीएल कार्ड, पेंशन और आवास की व्यवस्था करवाने की बात कही। मंत्री सिलावट ने कहा कि इन मरीजों को जीवनभर फ्री में उपचार करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि 8 मरीजों की आंखों की रोशनी लौट रही है। मंत्री ने मरीजों के परिवार वालों से भी बात की।

चेन्नई स्थित शंकर नेत्रालय से इलाज कराकर लौटे चार मरीजों को चोइथराम नेत्रालय में भर्ती किया गया। जांच के बाद डॉक्टरों ने बताया कि इनमें से मनोहर हरोड, हरपाल दास और मिश्रीलाल की रोशनी नहीं लौट सकेगी। आर्टिफिशियल कार्निया लगाकर तीनों की आंख बचा ली गई है। चौथे मरीज मोहन देवका की आंख पहले ही चेन्नई में निकाली जा चुकी है। चोइथराम नेत्रालय में जिन आठ मरीजों का इलाज चल रहा है, उनमें से छह की रोशनी थोड़ी-थोड़ी लौटी है। दो मरीजों की रोशनी वापस आने की संभावना कम बताई जा रही है।

इंदौर आई अस्पताल में मोतियाबिंद ऑपरेशन फेल होने के बाद 15 मे से सात मरीज अपनी रोशनी खो चुके हैं। यहां आठ अगस्त को धार व इंदौर के 14 मरीजों का ऑपरेशन किया गया था। नौ अगस्त को इनकी आंख में सूजन व दर्द हुआ। डॉक्टरों ने जांच की तो किसी ने भी इनकी आंख में संक्रमण होने की जानकारी नहीं दी। उनका कहना था कि एक-दो दिन में रोशनी आ जाएगी। अस्पताल प्रबंधन अपने स्तर पर इलाज कराता रहा। स्वास्थ्य विभाग की जानकारी में मामला आने के बाद 13 अगस्त को ओटी सील किया गया।

दो महिला मरीजों की इंदौर आई अस्पताल में ही निकाली थी आंख

17 अगस्त को मामला उजागर होने पर स्वास्थ्य मंत्री व मुख्यमंत्री की पहल पर सभी मरीजों को चोइथराम नेत्रालय भेजा गया। चेन्नई स्थित शंकर नेत्रालय से डॉ. राजीव रमन को बुलाया गया। उन्होंने तीन मरीज मोहन देवका, मनोहर हरोड व हरपाल दास की आंख में संक्रमण अधिक होने पर चेन्नई रेफर किया। इसके बाद दो अन्य मरीज मिश्रीलाल व बालमुकुंद को भी रेफर किया गया। इन मरीजों ने पांच अगस्त को खुद के खर्च पर ऑपरेशन कराया था। इसके अलावा खुद के खर्च पर ऑपरेशन कराने वाली दो मरीज राधा बाई व मुन्नी बाई की आंख इंदौर आई अस्पताल में ही निकालनी पड़ी थी। पूरे मामले में स्वास्थ्य विभाग ने इंदौर आई अस्पताल के डॉ. सुधीर महाशब्दे व डॉ. सुहास बांडे के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना