World Aids Day Indore, इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। एचआइवी संक्रमितों की जांच के मामले में इंदौर प्रदेश में दूसरे नंबर पर है लेकिन संक्रमितों की संख्या में इंदौर प्रदेश में अन्य जिलों के मुकाबले नंबर-1 के पायदान पर है। इंदौर में पिछले 11 माह में 76 हजार 796 लोगों की जांच की गई। इमसें से 333 व्यक्तियों में एचआइवी संक्रमण पाया गया। कोविड व लॉकडाउन के दौरान भी मरीजों की एचआइवी की 70 प्रतिशत तक जांच की गई। कोविड के कारण इस वर्ष अक्टूबर माह तक एचआइवी जांच में 25 प्रतिशत की कमी आई लेकिन एचआइवी संक्रमण दर में केवल 0.2 प्रतिशत की ही गिरावट आई। एमवाय हॉस्पिटल के एचओडी डॉ. वीपी पांडे के मुताबिक 1994 में इंदौर में पहला मरीज मिला था तब भी यह माना जा रहा था कि इंदौर में प्रदेश के अन्य शहरों के मुकाबले ज्यादा मरीज मिलेंगे।

इंदौर औद्योगिक राजधानी है, इस वजह से सबसे ज्यादा लोगों का यहां आना-जाना होता है। इंदौर की भौगोलिक सीमा से लगे तीन राज्य महाराष्ट्र, गुजरात व राजस्थान में भी व्यवसायिक गतिविधियां होती है। यह देखने में आया है कि जहां-जहां व्यवसायिक गतिविधियां ज्यादा होती है वहां पर एचआइवी के मरीज ज्यादा मिलते हैं।

कोविड के दौरान एचआइवी मरीजों को रखना होगी अत्यधिक सावधानी

डॉ. सुमित्रा यादव के मुताबिक गर्भवती महिलाओं में अभी एचआइवी संक्रमण के मामले स्थिर है। एमवायएच में जिन एचआइवी संक्रमित महिलाओं की डिलिवरी हुई उनमें से किसी के भी नवजात को संक्रमण 18 माह के फॉलोअप तक नहीं मिला है। एचआइवी संक्रमितों को कोविड के दौरान और अत्यधिक सावधानी रखना होगी। इन मरीजों की इम्युनिटी पहले से ही कमजोर होती है। इस वजह से इनके कोविड संक्रमित होने का ज्यादा खतरा रहता है।

इंदौर में 1 जनवरी से 25 नवंबर तक 2020 तक

कुल जांच हुई: 76796

सामान्य व्यक्ति : 37453

गर्भवती महिला: 39343

एचआइवी संक्रमित मिले

कुल संक्रमित: 333

सामान्य मरीज-315

गर्भवती महिला-18

एचआइवी जांच के लिए मिल रही सुविधाएं

- इंदौर में 107 शासकीय व अशासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं में एचआइवी जांच की नि:शुल्क सुविधा

- प्रत्येक गर्भवती की एचआइवी जांच करना है अनिवार्य।

- केंद्रीय व जिला जेल में सभी कैदियों की एचआइवी जांच के लिए एफ-आइसीटीसी का होता है संचालन।

- असुरक्षित यौन संबंध संक्रमण व मां से नवजात को होने वाली बीमारी के उपचार व इनके माध्य से होने वाले एचआइवी व एड्स की रोकथाम के लिए जिले में तीन युगल मंगल केंद्र संचालित है।

- इंदौर जिले के 47 महाविद्यालयों में युवाअों को एचआइवी व एड्स की जागरूकता के लिए रेड रिबन क्लब का हो रहा संचालन।

एड्स दिवस व जागस्र्कता के लिए ये होंगे कार्यक्रम

विश्व एड्स दिवस व एचआइवी जागस्र्कता व एवं एचआईजी जांच प्रोत्साहन माह के तहत 1 से 31 दिसंबर तक ये होंगे कार्यक्रम

- इंदौर जिले के 47 महाविद्यालयों में संचालित रेड रिबन क्लब में ऑनलाइन सेमिनार,वेबिनार सह प्रतियोगिता आयोजित होगी।

- राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा विश्व एड्स दिवस पर 1 दिसंबर को सुबह 10.30 से 11.30 बजे तक 'वैश्विक एकजुटता साझा जिम्मेदारी' थीम पर वर्चुअल इवेंट का आयोजन हो रहा है। इसमें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन व राज्य मंत्री स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अश्विनी कुमार चौबे होगे।

Posted By: sameer.deshpande@naidunia.com

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस