Indore Law College Vivad: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विवादित किताब ''सामूहिक हिंसा एवं दाण्डिक न्याय पद्धति'' की प्रकाशक उमा खेत्रपाल को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, जमानती जुर्म होने के कारण नोटिस देकर रिहा कर दिया।पुलिस लेखिका डा.फरहत सहित दो आरोपित गिरफ्तार कर चुकी है।

इंदौर की भंवरकुआं थाना पुलिस के मुताबिक, ला कालेज में पढ़ाई जाने वाली विवादित पुस्तक अमर ला पब्लिकेशन पर छापी गई थी। पुलिस ने संचालक अमर खेत्रपाल को हिरासत में लिया तो बताया कि प्रकाशन की अनुमति पत्नी उमा के नाम से है। शुक्रवार को पुलिस ने उमा को मुंबई से बुलाकर गिरफ्तारी ले ली। डीसीपी जोन-4 आरके सिंह के मुताबिक, प्रकरण जमानती था। लिहाजा उमा को थाने से जमानत देनी पड़ी। पुलिस ने प्राचार्य इनामूल रहमान और प्राध्यापक मिर्जा मोजिज बेग की तलाश में भी छापे मारे। जानकारी मिली थी कि रहमान निजी अस्पताल में भर्ती है। शक के आधार पर एलआइजी चौराहा स्थित दो अस्पताल में छानबीन की, लेकिन उसका कोई पता नहीं चला।

गन्ने का रस बेचने की आड़ में कर रहे थे गांजा सप्लाई, दो गिरफ्तार

इंदौर। भंवरकुआं पुलिस ने मादक पदार्थों की खरीद-फरोख्त के आरोप में बबलू कामले निवासी अमर पैलेस कालोनी और रोशन पालीवाल निवासी राजेंद्र नगर को गिरफ्तार किया। एडीसीपी जोन-4 डा. प्रशांत चौबे के मुताबिक, आरोपितों से गांजा मिला है। दोनों गन्ने के रस का ठेला लगाते हैं। रस बेचने की आड़ में छात्रों को गांजा बेचते हैं। मादक पदार्थों का सेवन करने वाले छात्र फोन पर ही आर्डर दे देते थे। आरोपित सिगरेट में गांजा भरकर बेचते हैं। पुलिस ने कुछ दिन पूर्व होस्टल और कालेज में जागरूकता अभियान चलाया था। इस दौरान टीआइ शशिकांत चौरसिया ने छात्रों से नंबर साझा किए। एक छात्र ने काल कर दोनों आरोपितों की खबर दी।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close