Indore lockdown : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन ने इंदौर जिले को भी लॉकडाउन कर दिया है। हालांकि जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित कोई व्यक्ति नहीं मिला, लेकिन रविवार शाम जनता कर्फ्यू की गाइडलाइन तोड़कर समूह में निकले लोगों के कारण जिला प्रशासन को और सख्ती बरतने पर मजबूर होना पड़ा। कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव ने धारा-144 के तहत सोमवार को लॉकडाउन करने के आदेश जारी किए। प्रशासन के मुताबिक लॉकडाउन आदेश के तहत जिले के बाहर से आने वाले लोगों की मेडिकल जांच के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा। एयरपोर्ट पर आ रही अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के यात्रियों के साथ ही अब रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड या अन्य किसी स्थान पर यात्रियों के आवागमन को लेकर भी ऐसे इंतजाम रहेंगे। बाहर से आने वाले लोग कोरोना संक्रमित पाए गए या कोविड-19 वायरस के लक्षण मिले तो उन्हें उचित उपचार के लिए तय अस्पताल में भेजा जाएगा। दूसरे जिलों तक पब्लिक ट्रांसपोर्ट सेवा देने वाले बस संचालक, ऑपरेटर, वाहन मालिक, ड्राइवर, कंडक्टर को भी निर्देश दिए गए हैं कि यात्रियों को बैठाने या उतारने के लिए नौलखा, गंगवाल और एआईसीटीएसएल बस स्टैंड तय किए गए हैं।

इसके अलावा किसी भी अन्य स्थान पर यात्रियों को बैठाया या उतारा गया तो संबंधित व्यक्ति और वाहन के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। सभी निजी संस्थान, कार्यालय, कॉल सेंटर या निजी क्षेत्र में स्थित सभी प्रतिष्ठान 25 मार्च तक बंद रहेंगे। टैक्सी, ऑटो रिक्शा, ई-रिक्शा, मैजिक वैन, वैन, बस, मिनी बस आदि लोक परिवहन, निजी परिवहन के साधन सहित सार्वजनिक परिवहन सेवा के संचालन पर पूरी तरह रोक रहेगी। पेट्रोल-डीजल पंप, एलपीजी, सीएनजी गैस परिवहन के वाहन इस प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे। अगर किसी व्यक्ति को जिले से बाहर निकलना है या जिले के बाहर से जिले में प्रवेश करना आवश्यक है तो संबंधित थाना क्षेत्र से निर्धारित प्रारूप में अनुमति पास प्राप्त करना होगा।

संक्रमित लोगों को यह करना होगा

कोरोना संक्रमण से प्रभावित देश, राज्य या प्रदेश के अन्य जिलों से आ रहे व्यक्तियों को स्थानीय प्रशासन अनुसार चिकित्सीय व्यवस्था और सभी निर्देशों का पालन करना होगा। संभावित संक्रमण के सिलसिले को तोड़ने के लिए होम क्वारंटाइन में रखे गए लोगों को क्वारंटाइन अवधि तक अपने निवास स्थान पर ही रहना होगा। इस अवधि में डॉक्टरों की सलाह का पालन करना होगा। कोरोना प्रभावित देश, राज्य या प्रदेश के अन्य जिलों से आ रहे व्यक्तियों को कोरोना संक्रमण की स्क्रीनिंग व जांच की जानकारी 23 मार्च की शाम 5 बजे तक कंट्रोल रूम के नंबर 0731-2537253 पर उपलब्ध करानी होगी।

सरकारी कर्मचारियों को घर से काम की अनुमति

राज्य शासन के सभी शासकीय कार्यालयों और शासकीय संस्थाओं में कार्यरत अमले को अस्थायी रूप से 31 मार्च तक अपना कार्यालयीन कामकाज अपने निवास से ही करने की अनुमति दी गई है। किसी भी तात्कालिक जरूरत की दशा में अधिकारियों व कर्मचारियों को शासकीय कार्य के लिए उनके निवास से दफ्तर बुलाया जा सकेगा। ऐसे में शासकीय सेवकों के लिए यह अनिवार्य होगा कि वे अपने मोबाइल फोन नंबर और निवास का पता कार्यालय में और कार्यालय संस्था प्रमुख को तत्काल प्रदान करेंगे। तात्कालिक जरूरत पर वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा बुलाने पर मातहत अधिकारी या कर्मचारी को तत्काल उपस्थिति दर्ज करानी होगी।

राशन दुकान, मेडिकल स्टोर, पेट्रोल पंप, बैंक एटीएम, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, बस स्टैंड खुले रहेंगे

लॉकडाउन के दौरान राशन दुकान, दवा दुकान, अस्पताल, पेट्रोल पंप, होम टिफिन सेवा, बैंक एटीएम जैसी अति आवश्यक सुविधाओं और इनसे जुड़े प्रतिष्ठान खुले रहेंगे। साथ ही पेयजल और बिजली आपूर्ति, अग्निशमन सेवा भी जारी रहेगी। रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और बस स्टैंड खुले रहेंगे। नगर निगम, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, नगर सैनिक, होमगार्ड, आपदा प्रबंधन, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार, डाक सेवाओं को भी प्रतिबंध से बाहर रखा गया है। बैंक सुबह 11 से दोपहर 2 बजे तक सीमित अवधि के लिए संचालित हो सकेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना