उदयप्रताप सिंह

इंदौर, नईदुनिया। नगर निगम नस अब घरों से गीले-सूखे कचरे के अलावा ई-वेस्ट भी लेना शुरू कर दिया है। इसके लिए डोर टू डोर वाहन के पीछे एक अलग से डिब्बा लगाया है। इस डिब्बे में लोग अपने घरों के खराब मोबाइल, एडॉप्टर ,केबल व कम्प्यूटर का सामान दे रहे हैं। पिछले 20 दिन में नगर निगम के डोर टू डोर वाहनों से करीब 270 किलो ई-वेस्ट एकत्र किया गया हैं। इस वेस्ट को डिस्पोज करने के लिए नगर निगम ने यूनिक ईको रिसाइकल कंपनी से अनुबंध किया है। अब यह कंपनी ई-वेस्ट को रिसाइकल करेगी।

नगर निगम द्वारा अधिकृत एजेंसी के संचालक डॉ. फजल हुसैन के मुताबिक हम शहर के लोगों को यह सुविधा दे रहे हैं कि कि वे घर बैठे हमें अपने अनुपयोगी ई-वेस्ट जैसे कम्प्यूटर, मोबाइल, प्रिंटर, मॉनिटर, वॉशिंग मशीन, कूलर, एसी, पंखे, केबल आदि की जानकारी दें। हमारी कंपनी के कर्मचारी उनके घर जाकर सामान को एकत्र करेंगे और इसके बदले में संबंधित लोगों को राशि भी दी जाएगी। लोग हमारे कॉल सेंटर के नंबर 8120888898 पर फोन कर या वॉट्सएप कर अपने सामान की जानकारी दे सकेंगे। अभी तक कॉल सेंटर पर पिछले 20 दिनों में करीब 250 किलो ई-वेस्ट पहुंचा। इसमें ज्यादा कम्प्यूटर, प्रिंटर, मॉनिटर, ओवेन व केबल शामिल हैं।

इंदौर में सालभर में निकलता है पांच से छह हजार मीट्रिक टन ई-वेस्ट

जानकारों के मुताबिक इंदौर में प्रतिवर्ष पांच से छह हजार मीट्रिक टन ई-वेस्ट निकलता है। अभी तक कई लोग जानकारी के अभाव में कबाड़ियों को यह ई-वेस्ट दे देते हैं। ऐसे में ई-वेस्ट में खतरनाक केमिकल जैसे मर्करी, लेड, आर्सेनिक, केडमियम हैवी मेडल का सही तरह डिस्पोज नहीं होने से यह पर्यावरण व मानव स्वास्थ्य पर विपरित असर करते हैं। यही वजह है कि निगम द्वारा ई-वेस्ट को सही तरीके से डिस्पोज करने के लिए एक एजेंसी को जिम्मेदारी दी है।

Posted By: gajendra.nagar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस