इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण शहर में शादी समारोह, सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों में 250-300 से अधिक लोगों की भीड़ नहीं हो सकेगी। इस कारण आयोजक इससे अधिक लोगों और मेहमानों को आमंत्रित न करें तो ठीक रहेगा। शवयात्रा में भी सीमित लोग ही शामिल हो सकेंगे।

जिला आपदा प्रबंधन समूह ने शनिवार को यह तय किया। समूह की ओर से यह प्रस्ताव राज्य शासन को भेजा जाएगा। शासन से मंजूरी मिलने के बाद इन नियमों को लागू किया जाएगा।

शनिवार रात करीब नौ बजे रेसीडेंसी कोठी पर समूह की बैठक हुई। इसमें सांसद शंकर लालवानी, कलेक्टर मनीष सिंह, डीआइजी हरिनारायणाचारी मिश्र, नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल, विधायक रमेश मेंदोला, महेंद्र हार्डिया, मालिनी गौड़, आकाश विजयवर्गीय, भाजपा नेता मधु वर्मा, पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता, भाजपा नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे आदि मौजूद थे। बैठक में चर्चा हुई कि रात में 10 बजे तक बाजार बंद करने का नियम शासन की ओर से ही आने के कारण इसका पालन करना होगा। रात 10 बजे बाद कर्फ्यू लगने के कारण दुकानदारों को रात 8 बजे तक ही दुकानें बंद करना होंगी, ताकि वे समय पर घर पहुंच सकें।

-

हलवाई, बैंड वाले को देर रात आने-जाने की रहेगी अनुमति

शादियों में हलवाई और बैंड-बाजे वालों, टेंट वालों आदि का काम देर रात तक चलता रहता है। आपदा प्रबंधन समूह ने इनकी व्यावहारिक परेशानियों को देखते हुए तय किया कि इन लोगों को कर्फ्यू के बावजूद रात 10 बजे बाद भी आने-जाने की अनुमति रहेगी। आयोजनों में कम से कम भीड़ रखने की अपील की गई है। आयोजनों में शामिल सभी लोगों को मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है।

Posted By: dinesh.sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags