Indore News: इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर के ट्रेंचिंग ग्राउंड में बनाए जा रहे देश के सबसे बड़े सीएनजी प्लांट की क्षमता शुरुआत में 12000 किलो प्रतिदिन गैस उत्पादन की रहेगी, लेकिन बाद में उसे बढ़ाया जा सकेगा।यह क्षमता 16000 किलो प्रतिदिन तक बढ़ाई जा सकेगी। इस गैस का उपयोग लोक परिवहन के वाहनों को चलाने में होगा।प्लांट संचालित करने वाली निजी बायो सीएनजी वाहनों को गैल द्वारा तय कीमतों के अनुसार गैस बेचेगी। इंदौर की सिटी बसों को भी चलाने में इसी गैस का उपयोग होगा।

इससे अटल इंदौर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेस लि. की सिटी बस संचालन लागत घटेगी, बल्कि शहर के पर्यावरण को भी फायदा होगा। नगर निगम और कंपनी के बीच हुए अनुबंध के अनुसार कंपनी निगम को बाजार दर से पांच रुपये सस्ती दरों पर बायो सीएनजी बेचेगी। निगम के वेस्ट मैनेजमेंट कंसल्टेंट असद वारसी ने बताया कि प्लांट के लिए कुछ मशीनें और कंपोनेंट्स यूनाइटेड किंग्डम और कुछ जर्मनी से आने हैं।

भविष्य में जब भी मशीनें-उपकरण इंदौर आएंगे, तेजी से प्लांट निर्माण शुरू होगा। इससे पहले निगम एक बायो सीएनजी प्लांट चोइथराम मंडी के पास स्थापित कर चुका है। उक्त प्लांट भी सफलतापूर्वक संचालित किया जा रहा है और वहां उत्पादित गैस का उपयोग सिटी बसों में हो रहा है। निगम के अपर आयुक्त संदीप सोनी बताते हैं कि ट्रेंचिंग ग्राउंड में बनाया जा रहा प्लांट न केवल सबसे बड़ा प्लांट होगा, बल्कि सबसे आधुनिक प्लांट भी होगा। यहां की मशीनरी उन्नत किस्म की होगी। प्लांट के लिए निगम ने करीब 10 एकड़ जमीन कंपनी को लीज पर दी है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags