Indore News : इंदाैर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। रणजी ट्राफी जीतने वाली मध्य प्रदेश की क्रिकेट टीम के सदस्य मंगलवार सुबह एक बार फिर इंदौर के खजराना गणेश मंदिर पूजा करने पहुंचे। इस दाैरान टीम के काेच चंद्रकांत पंडित और कप्तान आदित्य श्रीवास्तव सहित परिवार के सदस्य भी माैजूद थे। बेंगलुरु में रणजी ट्राफी जीतकर मप्र टीम साेमवार काे इंदाैर पहुंची थी। विमानतल से पूरी टीम सीधे खजराना गणेश मंदिर गई थी। मगर तब टीम के साथ ट्राफी काे नहीं ले गए थे। इंदाैर संभागीय क्रिकेट संगठन के चेयरमैन संजय लूणावत ने बताया कि काेच चंद्रकांत पंडित से सुबह चर्चा हुई। वे चाहते थे कि ट्राफी के साथ भगवान का आशीर्वाद लें। इसलिए मंगलवार सुबह रणजी ट्राफी लेकर मंदिर पहुंचे। इस दाैरान काेच पंडित के साथ उनकी पत्नी मोहिनी और टीम के कप्तान आदित्य श्रीवास्तव की पत्नी आस्था भी साथ थीं। इंदाैर के बल्लेबाज रजत पाटीदार सहित टीम के सपाेर्ट स्टाफ के कुछ सदस्य भी थे। यहां मंदिर में ट्राफी भगवान के चरणाें में अर्पित की गई।

कोच पंडित ने बताई जीत की रणनीति बनाने की कहानी

सोमवार को इंदौर पहुंची टीम का भव्य स्वागत हुआ। होलकर स्टेडियम में हुए सम्मान समारोह में कोच चंद्रकांत पंडित ने जीत की रणनीति बनाने की कहानी बताई। उन्होंने कहा कि पांच दिनी मैच में विपक्षी टीम के 20 विकेट चटकाना बहुत अहम होता है। वे पांच गेंदबाजों के साथ खेलना पसंद करते हैं, लेकिन रणजी फाइनल जैसे अहम मैच में टीम केवल चार गेंदबाजों के साथ खेली थी। पंडित ने बताया कि हमारे तेज गेंदबाज पुनीत दाते सेमीफाइनल के बाद चोटिल हो गए थे। टीम संयोजन मुश्किल हो रहा था। मैंने कप्तान आदित्य से चर्चा की तो उन्होंने कहा कि सर चार गेंदबाजों से कैसे खेलेंगे। हमने तय किया कि मुंबई की बल्लेबाजी मजबूत है, तो हम भी बल्लेबाजी मजबूत करेंगे। फिर मैंने संजय जगदाले सर से चर्चा की तो उन्होंने पूछा तुम्हारा दिल क्या कहता है, अपने दिल की सुनो। इसके बाद हमने चार गेंदबाजों से खेलने का जोखिम लिया।

रात 9 से सुबह 5 बजे तक किया अभ्यास

कप्तान आदित्य ने कहा कि टीम ने ट्राफी के लिए दिन-रात मेहनत की है। कई बार रात 9 बजे से अभ्यास शुरू करते थे और सुबह 5 बजे तक अभ्यास चलता था। सभी को खिताब की भूख थी। अब यही सफलता हमें अगले वर्ष दोहराना है। मप्र क्रिकेट एसोसिएशन के पूर्व प्रमुख और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने वीडियो संदेश के जरिये खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया। इस दौरान बीसीसीआइ के पूर्व सचिव संजय जगदाले, एमपीसीए अध्यक्ष अभिलाष खांडेकर, सचिव संजीव राव, सिद्धियानी पाटनी, रमणीक सलूजा, पवन जैन, पूर्व सचिव मिलिंद कनमडीकर, बीसीसीआइ प्रतिनिधि राजूसिंह चौहान, चयन समिति सदस्य अमिताभ विजयवर्गीय, सुनील लाहोरे सहित कई पूर्व व वर्तमान खिलाड़ी मौजूद थे। संचालन राजेश वलेचा ने किया।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close