इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि,Indore News। जमीनों के नामांतरण और राजस्व के अन्य कामों को लेकर पैसे के लेनदेन के आरोपों में खुड़ैल-कम्पेल क्षेत्र के नायब तहसीलदार संजय यादव और उनके कार्यालय की महिला रीडर मीना यादव को निलंबित कर दिया गया है। रीडर को कलेक्टर मनीषसिंह ने निलंबित किया है, जबकि नायब तहसीलदार के निलंबन के आदेश कमिश्नर डा. पवन शर्मा ने जारी किए हैं। कुछ समय पहले नायब तहसीलदार को क्षेत्र से हटाकर निर्वाचन शाखा में अटैच किया गया था।

बताया जाता है कि नायब तहसीलदार और उनकी रीडर द्वारा लेनदेन की कई शिकायतें प्रशासन तक पहुंच रही थीं। नायब तहसीलदार अपनी बाबू के जरिए लेनदेन करते थे। इस तरह की कई शिकायतें जब बड़े अधिकारियों तक पहुंची तो पहले तो उन्होंने नायब तहसीलदार के दृष्टिहीन होने के कारण उनके प्रति सहानुभूति दिखाई और समझाया, लेकिन लापरवाही और लेनदेन का सिलसिला फिर भी नहीं थमा। नायब तहसीलदार की लापरवाही में एक और मामला शामिल हो गया।

दरअसल, सिवनी गांव में सितंबर 2020 में महिला मंगीबाई के बेटे की डूबने से मौत हो गई थी। अकाल मृत्यु के ऐसे मामलों में शासन की ओर से चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता मिलने का प्रविधान है। पटवारी ने आर्थिक सहायता के प्रकरण की रिपोर्ट बनाकर नायब तहसीलदार को सौंप दी थी, लेकिन उन्होंने महीनों से न तो रिपोर्ट दर्ज की, न ही इसे स्वीकृत किया। मामले की शिकायत कलेक्टर तक भी पहुंची। यह मामला मुख्यमंत्री समाधान आनलाइन तक भी पहुंच गया। कलेक्टर ने लापरवाही पर रीडर को निलंबित कर दिया। इस पर रीडर ने कहा कि वे तो नायब तहसीलदार के कहने पर पैसे लेती थीं। इस पर बाद में कमिश्नर ने नायब तहसीलदार को भी निलंबित कर दिया।

Posted By: gajendra.nagar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags