इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि, Indore News। मैडम जब से आपने मोहल्ले से दारू बंद करवाई, डर खत्म हो गया। रोज देरी से आने वाले पति टाइम पर घर आ जाते हैं। बस आगे वाली गली की लाइट बंद है। अंधेरा रहता है, लाइट चालू हो जाएगी तो भय खत्म हो जाएगा। आप रोजाना पैदल घूमने आया करो। मोहल्ले में खड़े रहने वाले आवारा लड़के भाग जाते हैं। यह संवाद रावजी बाजार थाना का एसआइ सीमा धाकड़ से 3 नंबर गली में उस वक्त हुआ जब वह पेट्रोलिंग करते हुए महिलाओं की समस्या जानने जा पहुंची।

राजवी बाजार थाना की एसआइ सीमा धाकड़ सिपाही संजू को लेकर बुधवार शाम हाथीपाला के समीप (गली नंबर 3) जब पहुंची तो महिलाओं ने घेर लिया। हंसी मजाक करते हुए छोटी बच्चियां एसआइ से ऐसे घुल मिल गईं जैसे वर्षों पुरानी दोस्त हों। एसआइ भी जाजम बिछाकर बैठ गईं। महिलाओं से घर, परिवार और बाहर की समस्याओं के बारे में बातचीत की। कुछ महिलाओं ने कहा झगड़े की जड़ शराब है। जब से शराब तस्करों पर कार्रवाई हुई पति और बच्चे सुधर गए हैं। टाइम पर घर आ जाते हैं और अब तो झगड़ा भी नहीं करते। एक महिला ने कहा जब से पुलिस पैदल भ्रमण करने लगी है मोहल्ले में खड़े रहने वाले आवारा लड़के गायब हो गए। पहले रोज गली में चहल कदमी करते रहते थे।

बच्चियां तो एसआइ के पास आकर बैठ गईं और निजी जीवन की बातें शुरू कर दी। एक बच्ची ने कहा मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता। मुझे तो डांसर बनना है। एसआइ ने डांसर बनने का तरीका बताया और समझाया पढ़ना भी जरूरी है। एसआइ ने खुद के नंबर बांटे और कहा परेशानी में कभी फोन कर देना। उन्होंने थाना प्रभारी, बीट इंचार्ज और थाना के नंबर भी महिलाओं को लिखवा दिए।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस