Indore News: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। फंड जुटाने के फंडे क्या होते हैं? यदि किसी कंपनी को यह पता है, तो फिर उसकी तरक्की में कभी धन की कमी आड़े नहीं आती। बस इसी मंत्र के माध्यम से इंदौर की कंपनियां आइपीओ लाकर अपने लिए बंपर फंड जुटा रही हैं। कई कंपनियां तो आइपीओ की उड़ान पर सवार होकर अपने टर्नओवर को मानो आसमान पर ले जा रही हैं। अन्य कंपनियां भी फंड जुटाने का यह फंडा अपना सकती हैं। यह उन सुझावों और चर्चा का सार है, जो शनिवार को होटल मेरियट में हुए एमएमई आइपीओ समारोह में शहर की कंपनियों के संस्थापकों व संचालकों के बीच हुई चर्चा में सामने आया।

इंदौर की कंपनियां स्टाक मार्केट से करोड़ों रुपये का फंड आसानी से जुटा रही हैं और अपने व्यवसाय को दुनियाभर में विस्तार दे रही हैं। हाल ही में इंदौर की इंफोबीन्स टेक्नोलाजिस लिमिटेड, डीपी ज्वेलर्स लिमिटेड, ईकेआइ एनर्जी लिमिटेड और सिस्टैंगो टेक्नोलाजिस लिमिटेड को स्टाक मार्केट से फंड जुटाने में अच्छी सफलता मिली है। इंदौर की कंपनियां अब दुनियाभर में काम का विस्तार कर रही हैं। इन कंपनियों ने किस तरह आइपीओ लांच किया, इससे कैसी गति मिल रही है, इस पर चर्चा हुई।

इंदौर नगर निगम ने भी ग्रीन बांड से जुटाया फंड

मुख्य वक्ता एनएसई की लिस्टिंग बिजनस डेवलपमेंट की वाइस प्रेसिडेंट रचना भुसारी ने कहा कि हाल ही में इंदौर नगर निगम ने ग्रीन बांड सफलतापूर्वक एनएसई में लिस्ट किया और फंड जुटाया। एसएमई कंपनियां भी कैपिटल मार्केट से फंड जुटा सकती हैं। अब तक 300 से ज्यादा एसएमई कंपनियां लिस्टेड हैं। इससे 5000 करोड़ से अधिक फंड जुटाया जा चुका। इनका मार्केट कैपिटलाइजेशन करोड़ों में है।

इंदौर से मिला है शानदार प्रतिसाद

रचना भुसारी ने कहा कि अब तक मध्य प्रदेश से हमारे पास 20 से अधिक कंपनियां लिस्ट हुई हैं। इन्होंने 340 करोड़ रुपये का फंड जुटाया है। इंदौर से आइटी, पैकेजिंग, सर्विसेस आदि क्षेत्र की आठ कंपनियां हैं। इंदौर से हमें बहुत अच्छा प्रतिसाद मिला है। यहां के उद्यमियों ने एसएमई आइपीओ के महत्व को समझा है। उम्मीद है कि आने वाले वर्षों में एसएमई एक्सचेंज पर कई कंपनियां और आएंगी।

इंदौर में हैं गजब संभावनाएं

हेम सिक्योरिटीज लिमिटेड के निदेशक गौरव जैन और प्रतीक जैन ने कहा कि व्यवसायों के लिए फंड जुटाने का सबसे किफायती विकल्प एसएमई आइपीओ है, क्योंकि बैंकों व अन्य स्रोतों से जुटाए जा सकने वाले फंड की सीमाएं हैं। एसएमई वर्ष 2023 के पहले तीन महीनों में एनएसई इमर्ज पर 30 से अधिक एसएमई आइपीओ आ रहे हैं। आगे भी बहुत सारी कंपनियां कतार में हैं। हाल ही में हमने इंदौर की आइटी कंपनी सिस्टैंगो टेक्नोलाजिस लिमिटेड के आइपीओ के लिए फंड्स जुटाने का काम किया। हम 34 करोड़ रुपये जुटाने के लिए आइपीओ लाए थे, लेकिन 86 गुना अधिक सब्सक्राइब होकर कंपनी को 2200 करोड़ रुपये प्राप्त हुए। इस सफलता के बाद हमने सोचा कि इंदौर में बहुत संभावनाएं हैं। अगर यहां सही तरीके से एसएमई को जागरूक करें, तो वे अपने बिजनस को अगले स्तर पर पहुंचा सकते हैं।

शामिल हुए 150 कंपनियों के प्रतिनिधि

इंदौर मैनेजमेंट एसोसिएशन, इन्वेस्ट इंदौर और हेम सिक्योरिटीज द्वारा आयोजित कार्यक्रम में 150 से अधिक कंपनियों के प्रतिनिधि मौजूद थे। मुख्य अतिथि सांसद शंकर लालवानी थे। इन्वेस्ट इंदौर के सावन लढ्ढा भी मौजूद थे।

Posted By: Hemraj Yadav

Mp
Mp
 
google News
google News