Indore News: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बड़ा गणपति से कृष्णपुरा के बीच स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत बनने वाली स्मार्ट रोड लगभग 35 करोड़ रुपये में बनाई जाएगी। इंदौर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कंपनी ने नए शिड्यूल आफ रेेट्स (एसओआर) के आधार पर सड़क निर्माण के टेंडर बुलाए थे, जिसमें सात एजेंसियों ने हिस्सा लिया था। इनमें से दो एजेंसियां तकनीकी बिड में बाहर हो गईं। बची पांच एजेंसियों में से एक ने अनुमानित लागत से 13 प्रतिशत कम दरों पर काम करने का प्रस्ताव दिया है। माना जा रहा है कि जल्द ही उक्त एजेंसी को ठेका दे दिया जाएगा।

स्मार्ट सिटी कंपनी ने बड़ा गणपति-कृष्णपुरा सड़क के लिए पहले भी टेंडर कर ठेका एक एजेंसी को सौंप दिया था, लेकिन सालभर से ज्यादा समय गुजरनेे के कारण उक्त फर्म ने काम करनेे से इंकार कर दिया था। यही वजह रही कि स्मार्ट सिटी कंपनी को सड़क के लिए दोबारा टेंडर प्रक्रिया करनी पड़ी।

विचित्र बात यह है कि स्मार्ट सिटी कंपनी ने नए एसओआर के हिसाब से सड़क निर्माण की लागत 39.50 करोड़ रुपये आंकी थी, लेकिन न्यूनतम दर में काम करने का आफर देने वाली एजेंसी ने 13 प्रतिशत कम दरों पर काम करने की पेशकश की है। 1.72 किलोमीटर लंबी सड़क को मास्टर प्लान के हिसाब से 60 फीट चौड़ी बनाई जाना है। सड़क चौड़ीकरण में 407 बाधाएं स्वेच्छा से हटवाई जा रही हैं। सूत्रों ने बताया कि उक्त सड़क काम सौंपने के बाद छह महीने की समय सीमा में बनाने का लक्ष्य है।

राजवाड़ा से कृष्णपुरा के बीच बाधाएं हटाने के लिए फिर दिए नोटिस

नगर निगम राजवाड़ा से कृष्णपुरा के बीच सड़क चौड़ीकरण की बाधाएं स्वेच्छा से हटाने के लिए एक बार फिर दुकानदारों और संपत्तिस्वामियों को नोटिस दिए हैं। पिछले दिनों विधायक आकाश विजयवर्गीय ने इसके निर्देश अधिकारियों को दिए थे। उक्त मार्ग बड़ा गणपति-कृष्णपुरा मार्ग चौड़ीकरण प्रोजेक्ट का हिस्सा है। स्मार्ट सिटी कंपनी केे अधीक्षण यंत्री डीआर लोधी ने बताया कि करीब 200 मीटर से ज्यादा लंबे हिस्से में दोनों तरफ 65-70 बाधक निर्माण हटना हैं। जो नोटिस दिए गए हैं, उनमें लोगों को तीन में बाधक हिस्से स्वेच्छा से हटाने को कहा गया है। इंदौर सेंट्रल लाइब्रेरी का भवन भी अभी टूटना शुरू नहीं हुआ है। उक्त भवन को लेकर ट्रस्ट और दुकानदारों के बीच विवाद है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local