नवीन यादव

इंदौर, नईदुनिया,Indore News। शहर की नदियों में साफ पानी बहाने के प्रशासन के प्रयास अब सफल नजर होते आ रहे हैं। शहर में बनाए गए सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट में सीवेज आ रहा है और यहां ट्रीटेट वॉटर निकल रहा है। इस पानी को कान्ह नदी में छोड़ने के साथ दूसरा उपयोग भी किया जाएगा।

मप्र प्रदूषण नियत्रंण बोर्ड के मुख्य प्रयोगशाला अधिकारी डॉ. डीके वाघेला ने बताया कि शहर के बीच से गुजर रही नदी को साफ रखने के लिए इन एसटीपी प्लांट का निर्माण जरूरी था। जो अब लगभग पूरा हो गया है। तैयार हो चुके सभी एसटीपी प्लांट पूरी क्षमता से काम कर रहे हैं जबकि कुछ जगहों पर ट्रॉयल चल रहा है। हमारी टीम इस पर पूरी नजर बनाए हुए हैं। जब सभी प्रस्तावित प्लांट में कनेक्शन हो जाएगा तो यहां से केवल ट्रीटेट वॉटर निकलेगा। इससे इंदौर की सेवन स्टार रेटिंग और वॉटर प्लस सर्टिफिकेशन का दावा पुख्ता हो जाएगा।

लॉकडाउन में था नहाने लायक पानी

वाघेला बताते है कि कबीट खेड़ी स्थित 245 एमएलडी क्षमता वाले एसटीपी का पानी नदी में ही छोड़ा जाता है। जब लॉकडाउन में सभी बंद था तो सांवेर के आगे एक गांव में कान्ह नदी का पानी साफ हो कर नहाने लायक हो गया था और कुछ स्थानों पर तो जलीय जीव भी इसमें आसानी से रह रहे थे। आने वाले दिनों में इंदौर में भी ऐसा ही हो जाएगा।

इंदौर में इतने एसटीपी

स्थान क्षमता

प्रतीक सेतु 8 एमएलडी

हुकमाखेड़ी 7 एमएलडी

राधास्वामी 6 एमएलडी

नहर भंडारा 11 एमएमडी

आजाद नगर 35 एमएमडी

हरसिध्दि 10 एमएलडी

कबीटखेडी-1 245 एमएलडी

कबीट खेडी-2 78 एमएलडी

कबीटखेडी-3 12 एमएलडी

(आंकड़े प्रदूषण नियत्रंण बोर्ड के अनुसार)

Posted By: gajendra.nagar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags