Indore News: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदौर में बिजली कंपनी के आउटसोर्स कर्मचारियों ने शनिवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी। इंदौर में पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के पोलोग्राउंड स्थित दफ्तर पर आउटसोर्स कर्मचारी धरने पर बैठ गए। आउटसोर्स कर्मचारी मानव संसाधन नीति बनाने से लेकर समान काम-समान वेतन के आधार पर संविलियन की मांग कर रहे हैं। पश्चिम क्षेत्र वितरण कंपनी के करीब पांच हजार बिजली के आउटसोर्स कर्मचारी हड़ताल पर हैं। हड़ताल लंबी चली तो शहर और ग्रामीण क्षेत्र में विद्युत वितरण व्यवस्था प्रभावित हो सकती है।

दरअसल, इंदौर और गांवों के वितरण केंद्रों की बिजली व्यवस्था पूरी तरह आउटसोर्स कर्मचारियों के ही भरोसे हैं। कंपनी क्षेत्र में पांच हजार कर्मचारी हड़ताल पर हैं। कर्मचारियों के अनुसार, पहले हड़ताल का ऐलान 6 जनवरी से किया गया था। हालांकि, प्रवासी भारतीय सम्मेलन और इंवेस्टर्स समिट के मद्देनजर हड़ताल टाल दी गई थी। अधिकारियों ने इसके बाद भी मांगों पर ध्यान नहीं दिया। इसलिए प्रदेशभर के 45000 कर्मचारी हड़ताल पर हैं। हड़ताल के पहले दिन कर्मचारियों से चर्चा के लिए कोई भी अधिकारी बाहर नहीं आया।

जगन्नाथ पुरी जाने के लिए 398 बुजुर्गों ने करवाया पंजीयन

इंदौर। मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत इंदौर से 6 फरवरी को जगन्नाथ पुरी के लिए यात्रा रवाना होगी। यात्रा 60 वर्ष या इससे अधिक के उम्र के बुजुर्गों को निश्शुल्क कराई जाएगी। यात्रा के लिए आवेदन करने की अंतिम तारीख 25 जनवरी है। अब तक 398 बुजुर्गों ने पंजीयन करवा लिया है। जिला पंचायत से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस यात्रा में इंदौर जिले के 398 यात्री रवाना होंगे। यात्रा 6 फरवरी को रवाना होकर 11 फरवरी को वापस इंदौर आएगी। यात्रा डा आंबेडकर नगर महू से प्रारंभ होकर इंदौर, सीहोर होते हुए जगन्नाथपुरी जाएगी।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close