Indore News: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर के एमजी रोड की जिस गली में कभी लता मंगेशकर का परिवार रहता था, जिस घर में सुरों की सम्राज्ञी ने जन्म लिया था उस गली को अब एक नई पहचान मिलने जा रही है। सिख मोहल्ला की यह गली एक बार फिर लता मंगेशकर की नाम से पहचानी जाएगी। यही नहीं कोठारी मार्केट वाला चौराहा, रामप्याऊ वाला चौराह या जेल रोड़ चौराहे के बाद वाले चौराहे सहित अलग-अलग नामों से जिस चौराहे को अभी तक पहचाना जाता रहा उसका नाम भी अब लता मंगेशकर के नाम पर करने की योजना बनाई जा रही है। मंगलवार को लता मंगेशकर के जन्मदिन पर उनके शहर में उन्हीं के सम्मान में प्रतीक चिन्ह लगाने की घोषणा हुई।

यह घोषणा सांसद शंकर लालवानी ने की। लोक संस्कृति मंच, संस्कृति मंत्रालय और नगर निगम के साझे आयोजन में लता मंगेशकर का जन्मदिवस सिख मोहल्ला में मनाया गया। मंगलवार की सुबह आयोजित इस कार्यक्रम में सांसद शंकर लालवानी और उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत अकादमी के निदेशक जयंत भिसे विशेष रूप से उपसि्थत थे।

आयोजन में शंकर लालवानी ने गली में लता मंगेशकर को समर्पित प्रतीक चिन्ह लगाने की घोषणा की। वर्तमान में यहां सांकेत स्वरूप पोस्टर लगाय गया है जिसके स्थान पर बाद में प्रतीक चिन्ह लगेगा। यह प्रतीक चिन्ह एक म्यूरल होगा जो संस्कृति विभाग द्वारा बनाया जा रहा है। इसे बनने में संभावित रूप से 2 माह लगेंगे। यह म्यूरल अनब्रकेबल और करीब 10 बाय 10 फिट का होगा। उन्होंने कहा कि कोठारी मार्केट वाले चौराहे का नाम भी लता मंगेशकर के नाम पर करने की मांग नगर निगम से की जाएगी। यह प्रयास भारत रत्न लता मंगेशकर के सम्मान में किया जा रहा है।

आयोजन में जयंत भिसे ने कहा कि लता मंगेशकर ने अपनी गायकी से भारत का प्रतिनिधित्व दुनियाभर में किया और शहर के लिए यह गौरव की बात है कि वह इंदौर में जन्मीं हैं। इस अवसर पर संगीत जगत से जुड़े अन्य गणमान्य कलाकार व नागरिक भी उपसि्थत थे।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local