Indore News: इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदौर के प्रीतमलाल दुआ सभागृह में विजय सोहनी द्वारा निर्मित देश के परमवीर चक्र विजेताओं के चित्रों की तीन दिनी प्रदर्शनी की शुरुआत सोमवार सुबह हुई। शाम को गांधी हाल स्थित अभिनव कला समाज के सभागृह में ‘दरोगाजी चोरी हो गई’ नाटक का मंचन होगा।

संस्था सेवा सुरभि के ‘झंडा ऊंचा रहे हमारा’ अभियान ने रफ्तार पकड़ ली है। रविवार को प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की बहनों ने रीगल चौराहे पर स्थापित इंडिया गेट की प्रतिकृति पर पहुंचकर देश के लिए बलिदान देने वाले सैनिकों को पुष्पांजलि अर्पित की। जाल सभागृह में इंदौर के 12 प्रमुख विद्यालयों के बच्चों ने देशभक्ति से प्रेरित गीतों की प्रस्तुतियां देकर समूचे माहौल को तिंरंगामय बना दिया। प्रख्यात गायक प्रसन्न राव एवं उनकी टीम ने भी अपने फिल्मी गीतों से खचाखच भरे हाल को बांधे रखा।

बलिदानियों को याद किया

संस्था के संयोजक ओमप्रकाश नरेडा, मुकुंद कारिया एवं स्नेहल मेहता ने बताया कि ब्रह्मकुमारी बहनों ने हेमलता दीदी एवं अनिता बहन के सान्निध्य में इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति की प्रतिकृति पर पुष्पांजलि अर्पित की। उन्होंने देश के अनाम बलिदानियों को शिद्दत से याद किया। इस अवसर पर दीपक अधिकारी, मनीष ठक्कर, राजेंद्र चौरड़िया ने सभी बहनों की अगवानी की।

समूह गान स्पर्धा के विजेताओं को बांटे पुरस्कार

शनिवार रात जाल सभागृह में आयोजित अंतरविद्यालयीन समूह गान स्पर्धा में एमराल्ड हाइट्स इंटरनेशनल स्कूल प्रथम, सत्यसाईं विद्या विहार द्वितीय एवं सन्मति हायर सेकंडरी स्कूल तथा वैष्णव कन्या विद्यालय संयुक्त रूप से तृतीय विजेता रहे। विजेताओं को क्रमशः 7500, पांच हजार एवं तीन हजार रुपये के नकद पुरस्कार दिए गए। समाजसेवी वीरेंद्र गोयल, विष्णु बिंदल, पत्रकार राजेश चेलावत, सहोदय की चेयरमैन कंचन तारे एवं पार्श्व गायक प्रसन्न राव ने विजेताओं को प्रशस्ति पत्र भेंट किए।

विद्यार्थियों ने सुनाए देशभक्ति गीत

विद्यार्थियों ने सारे जहां से अच्छा हिन्दुस्तां हमारा जैसे देशभक्ति से प्रेरित गीतों की प्रस्तुतियां दी। अतिथियों का स्वागत प्रमेन्द्र मिश्रा, अनिल गोयल, मोहित सेठ, रामविलास राठी, सीके. अग्रवाल आदि ने किया। संचालन रंगकर्मी संजय पटेल ने किया। निर्णायक मंडल में डा.किशोर काले, अमृता मानके और प्रज्ञा शर्मा शामिल थे।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close