इंदौर Indore News। नईदुनिया प्रतिनिधि शासकीय केंसर अस्पताल में रेडियो थेरेपी के लिए दो लीनियर एक्सीलेटर मशीन लगाई जाएगी। प्रबंधन ने पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत इसे लगाने का निर्णय लिया है। नई मशीनों के लगने से कैंसर पीड़ित मरीजों को कीमोथेरेपी में फायदा होगा। बेहतर और आधुनिक इलाज कम खर्च पर मिल सकेगा। मेडिकल कॉलेज डीन डॉ. संजय दीक्षित ने सहमति जताते हुए प्रस्ताव भेजने की बात कही है।

शासकीय कैंसर अस्पताल में फिलहाल जिस मशीन से मरीजों को कीमोथेरेपी दी जा रही है वह बेहद ही पुरानी हो चुकी है। मार्च 2021 के बाद इसका उपयोग नहीं किया जा सकेगा। इसे देखते हुए मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने यह निर्णय लिया है। आधुनिक लीनियर एक्सीलेटर मशीनें लगने से मरीजों के उस हिस्से पर ही थेरेपी दी जाएगी जहां बीमारी फैली हुई है। पुरानी तकनीक से थेरेपी देने पर मरीजों को फायदा तो होता है लेकिन रेडिएशन का प्रभाव गांव के आस-पास होने का अंदेशा रहता है।

लोड बढ़ने पर बार-बार होती है खराब

शासकीय कैंसर अस्पताल में निशुल्क इलाज किया जाता है जिससे इंदौर सहित पूरे प्रदेश से मरीज इलाज के लिए पहुंचते हैं। रोजाना 60 से 70 मरीजों को कीमोथेरेपी दी जा रही है। लोड बढ़ने से मशीन बार-बार खराब होती है। ऐसे में गंभीर और बीमारी से जूझ रहे मरीजों को भी परेशानी उठाना पड़ती है।

अस्पताल में पीपीपी मॉडल पर मशीनें

लगाने की जानकारी होने के बाद डॉक्टरों में चर्चा हो रही है।डॉ डॉक्टर यह चाहते हैं कि मेडिकल कॉलेज खुद मशीन खरीदे और उसका संचालन करें। फिलहाल में डॉक्टर और कर्मचारी दोनों ही है राज्य शासन से आयुष्मान योजना के तहत जो राशि मिलती है उससे कुछ ही सालों में मशीनों की कीमत निकल आएगी। इसके बाद जो भी राशि मिलती जाएगी उसे अस्पताल और मेडिकल कॉलेज के अन्य विकास कामों में लगाया जा सकता है।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस