Indore News : इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए उम्मीदवारी से प्रदेश और खासकर इंदौर में उनके समर्थकों में उत्साह बढ़ गया है। हालांकि, उनके पुत्र और राघौगढ़ से विधायक जयवर्धन सिंह मानते हैं कि उनका परिवार चाहता था कि गांधी परिवार से ही कोई अध्यक्ष बने।

जयवर्धन सिंह गुरुवार दोपहर पूर्व पार्षद अनिल शुक्ला के घर श्रद्धांजलि व्यक्त करने पहुंचे थे। यहां से रात को वे दिल्ली रवाना हुए। चर्चा करते हुए जयवर्धन सिंह ने कहा कि मेरे पिता आज जो भी हैं, वह नेहरू-गांधी परिवार के कारण हैं। हम चाहते थे कि राहुल गांधी या प्रियंका गांधी अध्यक्ष बने, लेकिन अब वे यह पद नहीं ले रहे हैं तो देखिए आगे क्या होता है। उन्होंने कहा कि अभी मेरे पिता फार्म भर रहे हैं। अध्यक्ष पद को लेकर अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी। अगले कुछ दिन महत्वपूर्ण हैं। यदि वे अध्यक्ष बनते हैं तो उनके अनुभव का लाभ पार्टी को मिलेगा।

प्रदेश में नाथ पार्टी का कुशल नेतृत्व कर रहे - अगले साल मप्र में भी विधानसभा चुनाव हैं और ऐसे में राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने से दिग्विजय को अन्य प्रदेशों पर भी ध्यान देना होगा। इससे उनका फोकस बंट सकता है। इस बारे में जयवर्धन सिंह ने कहा कि मप्र में पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ पार्टी का कुशल नेतृत्व कर रहे हैं। उनकी अगुआई में पार्टी चुनाव की तैयारियों में जुटी है। मेरे पिता सहित अन्य सभी नेता प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाने में पूरा प्रयास करेंगे।

न्यायनगर संस्था के पीड़ित 25 साल से बिना प्लाट के

इंदौर। न्याय विभाग कर्मचारी गृह निर्माण सहकारी संस्था (न्याय नगर एक्स्टेंशन) की वार्षिक साधारण सभा गुरुवार को जाल सभागृह में हुई। सदस्यों का एकमत होकर कहना था कि हम 25 साल से बिना प्लाट के हैं। प्रशासन हर जगह बुलडोजर लेकर कार्रवाई कर रहा है। हमें भी अब न्याय दिलवा दे। सभा में शासन की तरफ से प्रशासक प्रवीण जैन और अन्य अधिकारियों के साथ न्याय नगर पीड़ित संघ के सदस्य हर्षवर्धन श्रीवास्तव, अजय गुप्ता, पीसी सिंह, सुरेश गोयल, आशुतोष शर्मा भी शामिल हुए। सदस्यों ने कहा कि पिछले 25 वर्षों से ज्यादातर सदस्य रजिस्ट्री वाले प्लाट के लिए प्रशासन, पुलिस थाना सब जगह ठोकर खा रहे हैं और कोई भी कुछ नहीं कर रहा है। बीच शहर में हमारा ऐसा हाल है जबकि शहर के बाहरी इलाकों में कई कालोनियां कट रही हैं, जिसमें भी इसी तरह का फर्जीवाड़ा हो रहा होगा। प्रशासन बड़े लोगों पर तो कार्रवाई कर रहा है लेकिन न्याय नगर के सदस्यों को अब तक न्याय नहीं मिला है।

Posted By: Hemraj Yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close