Indore News: इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। देश के सबसे पुराने और प्रतिष्ठित कला संस्थानों में अग्रणी कोलकाता के एकेडमी आफ फाइन आर्ट्स में शहर के प्रतिष्ठित चित्रकार योगेंद्र सेठी के चित्रों की कला प्रदर्शनी हाल ही में आयोजित हुई। इस कला प्रदर्शनी को कोलकाता में खासा प्रतिसाद मिला। कला प्रदर्शनी के दौरान लगातार कला प्रेमियों का तांता लगा रहा और कला प्रेमियों ने बड़ी जिज्ञासा से आध्यात्मिक सिद्धांतों को इम्प्रेशनिस्टिक विधा के माध्यम से व्यक्त करते चित्रों को देखा व सराहना की। प्रदर्शनी में पश्चिम बंगाल के कई मंत्री, विधायक, उद्योगपतियों सहित कला जगत की हस्तियां शामिल हुईं।

योगेंद्र सेठी द्वारा लगाई गई इस एकल कला प्रदर्शनी ‘डायमंड सोल’ को न केवल प्रतिसाद मिला बल्कि विभिन्न संस्थाओं द्वारा कलाकार का सम्मान भी किया गया। प्रदर्शनी का उद्घाटन सत्र में पद्मश्री हर्ष नेवटिया, पद्मश्री प्रह्लाद राय, कुंजबिहारी अग्रवाल, संजय बुधिया, विधायक विवेक गुप्ता, निर्मल बिंदायका, भागचंद काला, भीखमचंद पुगलिया, राजकुमार सेठी, संतोष सेठी, सुशील पोद्दार, बाबू बख़्शी, देबलीना बिस्वास, नेपाल के काउंसल जनरल ईशर राज पोद्दार आदि विशेष रूप से उपस्थित हुए। इस प्रदर्शनी के माध्यम से कलाकार योगेंद्र सेठी अपनी सुप्रसिद्ध श्रृंखला 'डायमंड सोल' का चौथा संस्करण यहां प्रस्तुत किया।

गौरतलब है कि इम्प्रेशनिस्टिक विधा में योगेंद्र सेठी के चित्र दुनिया भर की कई प्रतिष्ठित गैलरी में प्रदर्शित हैं और अमेरिका के प्रतिष्ठित नेशनल आर्ट्स क्लब, न्यूयार्क ने उन्हें मानद सदस्यता प्रदान की है। योगेंद्र सेठी ने आचार्य विद्यासागर महाराज प्रेरणा से प्राचीन भारतीय सिद्धांतों और शास्त्रों में लिखी सनातन बातों को इम्प्रेशनिस्टिक विधा में अपनी विशिष्ट कलादृष्टि से खास सब्जेक्टिव माडर्न आर्ट के रूप में प्रस्तुत करते हैं। अमूर्तन और मूर्त दोनों ही शैलियों के समागम वाली इनकी कलाकृतियों में प्राकृतिक नजारों का सुंदर समागम भी नजर आता है तो अध्यात्म की गंभीरता भी दिखती है।

कैनवास पर एक्रेलिक और आइल कलर से ये कृतियां बनाई गई हैं। प्राचीन शास्त्रों और आधुनिक चित्रकला के एक सेतु के रूप में देखी जानी वाली इन पेंटिंग्स को कोलकाता से पूर्व देश-विदेश के अनेक शहरों में सराहा जा चुका है।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close